Shiksha vibhag rajasthan education news

तनाव-झगड़ों के साये में पंचायत सहायक की भर्ती

डूंगरपुर। पंचायत सहायक भर्ती का दूसरा चरण भी तनाव, विवाद और झगड़ों के बीच पंचायत शिक्षा अधिकारी ने कार्य पूरा किया। धोधरा पंचायत में तो बाहरी अभ्यर्थियों को साक्षात्कार से ही रोक दिया तो एसडीएम और पुलिस पहुंची और फिर सुरक्षा के बीच उनका साक्षात्कार करवाया गया। 6 2 पंचायतों में 124 और रिक्त रहे 35 कुल 159 पंचायत सहायक पदों के लिए बुधवार को चयन साक्षात्कार लिए गए।

दिनभर जनप्रतिनिधि, पीईईओ, एसडीएमसी कमेटी और ग्रामीणों के बीच अपनों के चयन को लेकर विवाद की स्थिति रही। ऐसी पंचायतों में बुधवार देर शाम को चयन साक्षात्कार को निरस्त करते हुए सूचना जिला स्तरीय अफसरों को भेज दी गई। शिक्षा विभाग की ओर से हर स्कूल में पुलिस व्यवस्था लगाने से कोई अनहोनी की घटना नहीं हुई। फिर भी बेरोजगार दिनभर पंचायत सहायक की भर्ती को लेकर स्कूल के आसपास चक्कर लगाते रहे। वहीं प्रारंभिक शिक्षा विभाग कार्यालय में दोपहर के बाद से परिवेदनाएं, शिकायत और निरस्त कराने के लिए फोन आते रहे।

पीईईओ और एसडीएमसी कमेटी की अध्यक्षता में सुबह 10 बजे बैठक का दौर शुरू हुआ। जिसमें कुछ ग्राम पंचायत में भर्ती की प्रक्रिया शांतिपूर्वक निपट गई। चयन सूची बुधवार को ब्लॉक, नोडल कार्यालय के माध्यम से देर रात डीईओ ऑफिस तक मंगवाई गई। प्रारंभिक शिक्षा कार्यालय में एडीईओ, बीईईओ, एबीईईओ और दोनों डीईओ की टीम कंट्रोल रूम पर रही। उन्होंने फोन पर एसडीएमसी कमेटी के माध्यम से अनुभव वाले चयनित पात्र व्यक्ति के चयन करने के मौखिक आदेश दिए।

ग्रामपंचायत धोधरा में पुलिस और एसडीएम ने मिलकर बाहरी अभ्यर्थी का साक्षात्कार कराया। इसके अलावा बाकंडा और गडा वाटकेश्वर में देर शाम तक चयन की प्रक्रिया चलती रही। अन्य 9 ग्राम पंचायत में शांतिपूर्वक साक्षात्कार हुआ।

^जिले में 159 पंचायत सहायक के लिए बुधवार को साक्षात्कार प्रक्रिया की गई। जिसमें कुछ ग्राम पंचायत में विवाद के कारण निरस्त रखा गया। देर शाम आठ बजे तक बीईईओ के माध्यम से सीलबंद लिफाफे लिए गए। परिवेदना, शिकायत और आरोप पत्र मिले है। जिसे जिला स्तरीय कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। -मणिलाल छगण, डीईओ प्रारंभिक

SHARE