Shiksha vibhag rajasthan education news

बाल-वाहिनी पीले रंग की हों, जीपीएस, फर्स्ट एड बॉक्स और पानी भी जरूरी

स्कूली बच्चों की सुरक्षा की चिंता, विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष के निर्देश

जयपुर। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यकारी अध्यक्ष न्यायाधीश केएस झवेरी ने सोमवार को बच्चों के कल्याण के लिए बाल-वाहिनी के संचालन के संबंध में कई निर्देश जारी किए हैं।

इन निर्देशों की कॉपी राज्य के मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, प्रमुख विधि सचिव, सभी जिला कलेक्टर पुलिस कमिश्नर, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई को भेजते हुए इनकी सख्ती से पालना कराने के लिए कहा है।

निर्देश में कहा है कि स्कूल प्रबंधन द्वारा संचालित बाल-वाहिनी में जीपीएस हो और उनमें प्रथम चिकित्सा बॉक्स पीने के पानी की व्यवस्था होनी चाहिए। पीछे के हिस्से पर स्कूल का नाम, पता फोन नंबर सहित ड्राइवर कंडेक्टर का भी नाम लिखा हो।

वहीं ड्राइवर कंडक्टर के नाम, मोबाइल नंबर पते और लाइसेंस की जानकारी स्कूल प्रबंधन, संबंधित पुलिस थाने के पास भी हो। बाल-वाहिनी पीले रंग की हो और उस पर ऑन स्कूल ड्यूटी लिखा हो। शीशों पर फिल्म नहीं चढ़ी हो और विशेष योग्यजन बच्चों के उतरने चढ़ने की सही व्यवस्था हो। सीट क्षमता से डेढ़ गुना अधिक बच्चों को नहीं बिठाया जाए।

इसके अलावा चालक के खिलाफ यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर दो से अधिक बार चालान एक ही साल में पेश हुआ हो। तेज गति नशे में वाहन चलाने सहित आईपीसी की अन्य धाराओं में चालान पेश हो चुका हो।

SHARE