court case and Education
court case and Education

विद्यार्थी मित्रों ने साक्षात्कार दिए, परिणामों पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

चित्तौड़गढ़। एक बार फिर कई पंचायतों में पंचायत सहायक बनने से वंचित रहे विद्यार्थी मित्रों को विरोध का सामना करना पड़ा। हालांकि इस बार सभी जगहों पर साक्षात्कार प्रक्रिया होने का प्रारंभिक शिक्षा विभाग के अधिकारी दावा कर रहे हैं। इधर हाईकोर्ट द्वारा उक्त भर्ती के परिणामों पर रोक लगा दी गई है।

जिले में ग्राम पंचायत सहायकों के चयन से शेष रही ग्राम पंचायत, मंगलवाड़ (डूंगला), गोविन्दपुरा (बेगूं), बडवल, जरखाना, पिण्ड (बडीसादडी), बस्सी, जावदा (भैंसरोडगढ), भादसोड़ा में चार-चार एवं असावरा (भदेसर) ग्राम पंचायत में एक 1 पद के लिए पंचायत सहायक की भर्ती प्रक्रिया के तहत साक्षात्कार प्रक्रिया अपनाई गई। सुबह होने के साथ ही वंचित विद्यार्थी मित्र साक्षात्कार देने के लिए पहुंचे। विद्यार्थी मित्रों के अनुसार इस बार भी उन्हें साक्षात्कार प्रक्रिया के तहत विरोध का सामना करना पड़ा। नौ पंचायतों में कुल 33 पदों के लिए 550 से अधिक अभ्यर्थी साक्षात्कार देने पहुंचे। जबकि एक अनुमान के आधार पर 300 विद्यार्थी मित्र भी शामिल हुए।

प्रारंभिक शिक्षा विभाग के डीईओ प्रारंभिक ओमप्रकाश शर्मा एवं एडीईओ गणेशलाल वैष्णव के अनुसार बुधवार को संबंधित गांव में राउमावि मेें पंचायत सहायक के चयन के लिए एसडीएमसी की कार्य समिति की बैठकों में आवेदकों के साक्षात्कार एवं दस्तावेजों का परीक्षण कर चयन की प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से पूर्ण हुई है। किसी भी सेंटर से शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। इधर राजस्थान विद्यार्थी मित्र शिक्षक संघ के जिला संगठन मंत्री द्वारिकाधीश सोनी ने बताया कि फिलहाल हाईकोर्ट ने उक्त भर्ती के परिणामों पर रोक लगा दी है। अब कोर्ट के आदेश पर ही परिणाम जारी होंगे। उन्होंने बताया कि मंगलवाड़ सहित कुछ पंचायतों में विरोध के बीच में जैसे-तैसे प्रक्रिया संपूर्ण हुई है।

आज बीईईओ से बंद लिफाफें डीईओ कार्यालय पहुंचेंगे

एडीईओ गणेश लाल वैष्णव ने बताया कि साक्षात्कार प्रक्रिया के परिणामों की सूची बंद लिफाफों में संबंधित पीईईओ ने संबंधित ब्लाक कार्यालय में जमा करा दिए है। संबंधित बीईईओ से उक्त बंद लिफाफें गुरुवार को जिला मुख्यालय पर पहुंचेंगे

SHARE