31 मई तक दाखिल नहीं किया ऑन लाइन संपत्ति विवरण तो, कार्मिक विभाग ने जारी की अंतिम चेतावनी

जयपुर। राज्य सरकार (Government) ने अचल संपत्ति का ब्यौरा देने के लिए करीब पांच बार अंतिम तिथि को बढ़ाया। इसके बावजूद अब भी करीब 25 हजार अफसरों ने यह जानकारी नहीं दी है। ऐसे में कार्मिक विभाग ने 31 मई तक विवरण देने के लिए अब अंतिम चेतावनी जारी की है। प्रदेश में करीब एक लाख 10  हजार राजपत्रित अफसर है। इनमें से करीब 84 हजार 945 अफसरों ने ऑन लाइन सम्पत्ति का विवरण दे दिया है। जबकि अभी भी करीब 25 हजार अफसरों ने यह विवरण नहीं दिया है। अब भी इसकी जानकारी नहीं देने पर 1 जुलाई को प्रमोशन रोकने की चेतावनी दी गई है। साथ ही हिदायत दी गई है यदि ऑन लाइन विवरण देने में कुछ समस्या हो तो विभाग में आरिफ सिद्दीकी, विनीत तुलसयान, श्रद्धा अधिकारी और मनोज शर्मा से संपर्क किया जा सकता है।

यह है परिपत्र में

विभाग के संयुक्त सचिव अरविन्द पोसवाल की ओर से जारी किए परिपत्र में बताया कि राज्य के समस्त राजपत्रित अधिकारियों को 31 जनवरी तक ऑन लाइन दाखिल करनी थी। तकनीकी समस्या के चलते कई अफसरों का आधार लिंक नहीं हो सका। वहीं कई अफसरों ने गलत जानकारी दे दी। राज्य के 118 आरएएस अफसरों समेत अन्य सेवा के बड़ी संख्या में अफसरों ने यह जानकारी नहीं दी। ऐसे में विभाग ने अंतिम बार इसकी तारीख बढ़ाई है। 31 मई तक जानकारी नहीं देने या संशोधन नहीं करने पर प्रमोशन रोका जाएगा।

4 आरएएस का रोक दिया था प्रमोशन

सरकार ने गत दिनों आरएएस अफसरों की प्रमोशन सूची जारी की थी। इसमें चार वरिष्ठ अफसरों के नाम नदारद थे। इसके साथ ही कार्मिक विभाग ने स्पष्ट कर दिया था कि इन चारों अफसरों ने सम्पत्ति विवरण नहीं दिया। इसके चलते इनका प्रमोशन रोका गया है।

SHARE