Bank Exam Career in Bank Job Career in Private Banks v/s Public Sector Banks

बैंक परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें? How to prepare for Bank Exams?

देश के विभिन्‍न कोनों में संस्‍थाएं निश्चित अवधि में बैंक परीक्षाओं Bank Exams 2018 की सूचना जारी करती है। इन परीक्षाओं का पैटर्न लगातार बदलता रहता है। जो परीक्षार्थी बैंक परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, उन्‍हें अपनी तय की गई परीक्षा पर पूरी तरह फोकस होकर तैयारी करनी चाहिए।

सरकारी नौकरी में भी सार्वजनिक बैंकों Govt Bank Jobs में अब भी नौकरी स्थितियां कहीं अधिक बेहतर हैं। हर साल बैंक नौकरियों Govt Jobs 2018 में इजाफा हो रहा है।

बैंक परीक्षा में हर बार पैटर्न में बदलाव परीक्षा को कुछ और अधिक कठिन बना देता है, लेकिन इससे उत्‍तम परीक्षार्थियों के ही पास होने की स्थिति बनी रहती है। हालांकि कोचिंग इंस्‍टीट्यूट पैटर्न को समझने और तैयारी करने में आपकी मदद कर सकते हैं, लेकिन इसके बावजूद खुद के स्‍तर की गई तैयारी ही सर्वश्रेष्‍ठ तैयारी है जो आपके सलेक्‍शन की गारंटी को बहुत हद तक तय की सकती है।

यहां हम कुछ ऐसे बिंदुओं पर चर्चा करेंगे जिन्‍हें ध्‍यान में रखकर आप अपने स्‍तर पर बेहतरीन तैयारी कर सकें। चाहें आप कोचिंग की मदद ले रहे हों, लेकिन निजी स्‍तर की तैयारी में इन बिंदुओं का विशेष ख्‍याल रखा जाना चाहिए।

सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को समझना

सिलेबस में दिए गए पेपर के बारे में कुछ भी पढ़ने से पहले जान लें कि पूरा सिलेबस क्‍या है और परीक्षा का पैटर्न किस तरह आएगा। इसका सावधानीपूर्ण निरीक्षण आपको परीक्षा के बारे में एक समझ पैदा करने में मदद करता है।

रोजमर्रा का एक खाका तैयार कीजिए

नियमित अध्‍ययन के लिए अगर आपके पास एक निश्चित टाइम टेबल है, जो कि लचीला हो और अध्‍ययन के लिए प्रभावी हो तो, यह न केवल आपको पढ़ने के लिए उपयुक्‍त अवसर देता है, बल्कि सिलेबस को कवर करने के बाद उसे फिर से रिवीजन का मौका भी रखता है। इस टाइम टेबल को सिलेबस में दिए गए पाठ योजना और अध्‍ययन के विषय के महत्‍व के अनुसार विभाजित किया गया होना चाहिए। भले ही इस प्रक्रिया में शुरूआती महत्‍वपूर्ण समय लगे, लेकिन शुरूआत से पहले की यह तैयारी पूरे समय काम आती है।

किताबों के साथ ऑनलाइन मैटेरियल

परीक्षा की तैयारी के लिए आधारभूत मूल किताबों के अलावा शुरूआत में ही ऐसे ऑनलाइन स्रोतों की तलाश करें जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए ही बनी हैं। वहां से डाउनलोड हो सकने वाला मैटीरियल डाउनलोड करके रखें। साथ ही संबंधित ब्‍लॉग, विशेषज्ञों की वेबसाइट, संबंधित प्रतिष्‍ठानों की वेबसाइट और लेखों को सहेज लें।

स्‍टॉप वॉच के साथ तैयारी

सिलेबस को रट लेना ही अपने आप में पूरी तैयारी नहीं है। परीक्षा हॉल में टिक टिक करती घड़ी आपको साथ में परेशान करेगी। समयबद्ध परीक्षा के वातावरण को तैयारी के दौरान महसूस करने के लिए मॉडल पेपर को हल करते वक्‍त स्‍टॉप वॉच (Stop watch) का सक्रिय उपयोग करें। तैयारी के बीच में आपको एक निश्चित अवधि के बाद मॉडल या कहें मॉक टैस्‍ट (Mock Test) पेपर का अभ्‍यास करने की आदत डालनी होगी। यह आपको परीक्षा के माहौल को जीना सिखाएगी। परीक्षा हॉल में आपका कांफिडेंस इसी स्‍टॉप वॉच तैयारी से मिलता है।

ट्रिक्‍स और टिप्‍स

क्‍वांटिटेटिव एप्‍टीट्यूड Quantitative aptitude और लॉजिकल रीजनिंग Logical reasoning जैसे विषयों के लिए कुछ बहुत ही सधी हुई ट्रिक्‍स Tricks, टिप्‍स tips और स्‍ट्रैटर्जीज strategies होती हैं। इन्‍हें शुरूआती दौर में ही आपको अच्‍छी तरह से सीख लेना चाहिए। समय बीतने के साथ इनका नियमित अभ्‍यास आपको परीक्षा पर नियंत्रण दिलाने में मदद करता है।

आज कोचिंग में जाकर बैंक परीक्षा की तैयारी करना भेड़चाल हो चुकी है, इसके बावजूद देखने में यह आता है कि घर पर रहकर तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के सामने घर से कोचिंग तक के सफर और कोंचिंग के शिड्यूल को फॉलो करने का प्रेशर नहीं होता और अपने तय कार्यक्रम के अनुसार तैयारी करने का मौका मिलता है।

एक कोचिंग के एक या दो हजार विद्यार्थियों में से दस या बीस का सलेक्‍शन Selection को बहुत अच्‍छा अनुपात नहीं है। जो छात्र अपने स्‍तर पर अपनी तैयारी के भरोसे परीक्षा में बैठते हैं, उनके सफल होने का प्रतिशत कहीं अधिक है।

SHARE