shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in

जिला समान परीक्षा : अंग्रेजी के पेपर में स्पेलिंग भी गलत, चार सौ से अधिक स्कूलों में हुई परीक्षा लेकिन किसी को नहीं खबर

बांसवाड़ा। शब्द पर लाल या काला घेरा ‘अण्डा’, गलती और जीरो नंबर का परिचायक है। गुरुवार को जिला समान परीक्षा व्यवस्था के तहत बांसवाड़ा में सत्रांत परीक्षा 2017-18 की शुरुआत कुछ ऐसी ही हुई है। पर, यह ‘अण्डा’ परीक्षार्थी नहीं शिक्षा विभाग के खाते में दर्ज हुआ है। दरअसल, समान परीक्षा के तहत गुरुवार को कक्षा 9वीं का सामान्य अंग्रेजी विषय का प्रश्न पत्र हुआ। इस प्रश्न पत्र के ऊपरी भाग में दिए गए दिशा निर्देश से लेकर प्रश्नों तक में स्पेलिंग की ढेरों गलतियां थी। इतना ही नहीं एक दो प्रश्न के अंक निर्धारण व निर्देश भी विपरीत अंकित कर दिए। इतना सब कुछ होने पर भी आश्चर्य है कि चार सौ से अधिक सैकण्डरी सेटअप के विद्यालय व अंग्रेजी विषय के सैकड़ों शिक्षक होने के बावजूद शाम तक कहीं कोई हरकत नहीं हुई। बच्चों ने परीक्षा दे दी और शिक्षकों ने परीक्षा ले ली। किसी ने गलतियों का जिक्र तक नहीं किया। बाद में जब समान परीक्षा समन्वयक से प्रश्न पत्र में त्रुटि की बात कही तो वह भी हतप्रभ रह गए। सोशल मीडिया के जरिए जब प्रश्न पत्र भेजा गया तब उन्हें विश्वास हुआ और उन्होंने गलती मानी। त्रुटियों का यह भण्डार किस स्तर पर खुला है ? यह जांच के बाद ही स्पष्ट होगा।

प्रश्न पत्र में ये थी गलतियां

निर्देश में सेक्शन के तहत ए,बी एण्ड सी ऑल लिखा है, जबकि ए,बी,सी एण्ड डी होना चाहिए। 100 केजी के स्थान पर लुक. जी स्पेलिंग लिखी है। वहीं वेट की स्पेलिंग में भी गलती है। इसी प्रकार पार्र्टिसिपेंट, सिविलाइज्ड, यूनिक, इरेश्न, डिड्स, रीड, दे, रेनफुल, अमेजिंग, देअरफोर, सेड, फोन, ब्रिज, एक्स, कंट्री, मार्जिन, कटिंग सहित अन्य स्पेलिंग में भी त्रुटियां हैं। साथ ही प्रश्न नम्बर 17 में एक ही प्रश्न करने के निर्देश हैं, जबकि इसकी मार्किंग 2 गुणा 2 लिखी है। ऐसे में गलती निर्देश में है या मार्र्किंग में यह थी उलझन भरा है। समान परीक्षा व्यवस्था के तहत बांसवाड़ा जिले में आयोजित कक्षा 9वीं का अंग्रेजी विषय का प्रश्न पत्र जिसमें ढेरों त्रुटियां थी। 8 पृष्ठीय प्रश्न पत्र में हर पेज का हश्र लगभग ऐसा ही था, लेकिन इसका पता नहीं लगना आचरज भरा रहा।

हमें जानकारी नहीं मिली

प्रश्न पत्र में त्रुटि के संबंध में किसी भी विद्यालय या शिक्षक से कोई सूचना हमें नहीं मिली है। आपने जो त्रुटियां इंगित कराई हैं वह वास्तव में गलती है। इस विषय की जानकारी कर उचित कार्रवाई करवाई जाएगी।

-सुधीर डांगरा, समन्वयक, जिला समान परीक्षा, बांसवाड़ा

SHARE