बांसवाड़ा। गोविंद गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय ने नवाचार कर शहर में जिन बच्चों के घर में पढ़ने-लिखने का सही वातावरण और बंदोबस्त नहीं है, उनके लिए शनिवार को पहला विश्वविद्यालय अध्ययन केंद्र खोला। कस्टम चौराहा के पास वेद मंदिर परिसर में केंद्र का शुभारंभ वैदिक ऋचाओं के पाठ के बीच कुलपति प्रो. कैलाश सोडाणी ने मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर प्रो. सोडाणी ने कहा कि शहर में कई परिवार एक ही कमरे में रहते हैं। स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाले चार-चार बच्चे एक कमरा किराए पर लेकर रह रहे हैं, जिससे उन्हें टेबल-कुर्सी लगाकर सही तरीके से बैठने की सुविधा तक नसीब नहीं है। ऐसे बच्चों के लिए केंद्र पर निशुल्क सुविधा मिलेगी। अध्ययन केंद्र सुबह 8 बजे से रात्रि 12 बजे तक किसी भी स्तर के विद्यार्थियों के पढ़ने के लिए खुला रहेगा। केंद्र में विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ेगी, तो किराए पर और भवन लेकर केंद्र स्थापित किए जाएंगे। अकादमिक प्रभारी डॉ. राकेश डामोर के अनुसार केंद्र पर समाचार पत्र और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उपयोगी पुस्तकें भी विश्वविद्यालय की ओर से उपलब्ध करवाना प्रस्तावित है, जिससे शहर के बीच छात्र-छात्राएं इसका लाभ ले सकें। इस अवसर पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. डीके जैन, डॉ. युधिष्ठिर त्रिवेदी, मृत्युंजय शास्त्री, वेद प्रकाश मित्तल, डॉ. मधु उपाध्याय, डॉ. आरके मालोत, भुवनेश्वरी मालोत, परथा दामा, केएल परमार के अलावा विश्वविद्यालय और कॉलेज के विद्यार्थी एवं संकाय सदस्य मौजूद थे। आभार विवि के रजिस्ट्रार सोहनलाल कठात ने जतया।

वेतन का अधिकार पीईईओ को मिला कई शिक्षकों का भुगतान अटका

सज्जनगढ़। ब्लॉक के सभी शिक्षकों के वेतन देने का अधिकार अब सरकार ने पीईईओ को दे दिया है। ब्लॉक सज्जनगढ़ के कुछ पीईईओ की लापरवाही के कारण कई शिक्षकों के वेतन का भुगतान समय पर नहीं हो पा रहा है। ऐसे में शिक्षकों को आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शिक्षकों ने बताया कि इस साल होली मनाने के लिए वेतन नहीं मिला, अब 10 मार्च हो जाने पर फरवरी का वेतन नहीं मिला है। शिक्षकों ने वेतन समय पर दिलाने की मांग की है।

छात्रवृत्ति के लिए आवेदन की तिथि 15 तक बढ़ाई

बांसवाड़ा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति वर्ष 2017-18 के ऑनलाइन आवेदन तिथि 28 फरवरी से बढ़ाकर 15 मार्च तक कर दिया है। विद्यार्थी विभागीय वेबसाइट पर आवेदन पत्र भर सकेंगे। मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं में प्रवेशित छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति मिलेगी।

SHARE