jobs Naukri sarkari naukri govt jobs

राजस्थान में 3668 मामले कोर्ट में अटके हुए हैं। कई परीक्षाओं के मामले लम्बित हैं

सीकर। अमूमन ऐसा होता है कि विद्यार्थियों की कमजोर तैयारी से वे परीक्षा में सफल नहीं हो पाते। लेकिन राजस्थान में इसके विपरीत हो रहा है। विद्यार्थी तैयारी पूरी कर रहे हैं, वे परीक्षाओं में सफल भी हो रहे हैं, लेकिन सरकारी अधिकारियों की कमजोर तैयारी व जल्दबाजी के निर्णय के कारण राज्य के हजारों विद्यार्थियों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। योग्य होने के बावजूद उनको नौकरी नहीं मिल रही। कभी वे अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के चक्कर लगा रहे हैं तो कभी कोर्ट की शरण लेने को मजबूर हो रहे हैं।

आरपीएससी, राजस्थान अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड व अन्य माध्यमों से सरकारी भर्तियां हो रही हैं। लेकिन अधिकारियों की लापरवाही व कमजोर तैयारी के कारण 3668 मामले कोर्ट में अटके हुए हैं। 194 परीक्षाओं के मामले लम्बित हैं।
आरपीएससी की अटकी मुख्य भर्तियां

परीक्षा कोर्ट में————-       लम्बित
एएओ 2011—————-    08
अकाउंटेंट परीक्षा 2011—–     40
एसीपी 2011—————    10
एसीपी 2014—————    11
एईएन 2008————–      23
एईएन 2013—————    10
एपीओ 2015—————    55
असिसटेंट जेलर 2013——     17
अ. प्रोफेसर 2014-15 ——    34
कॉलेज व्याख्याता 2001—     48
कॉलेज व्याख्याता 2014-15– 113
डीई ————————    53
डीपीसी———————— 90
एचएम 2012 —————-  63
एलडीसी 2011—————- 63
एलडीसी 2013—————- 65
पीटीआई 2013————— 203
पीटीआई 2011————— 109
आरएएस 2012————— 69
आरएएस 2013————— 98
आरएएस 2016————— 30
आरटीआई———————52
एसआई 2010—————- 88
स्कूल व्याख्याता2013——– 219
स्कूल व्याख्याता 2015——- 164
टीजी 2008——————126
टीजी 2011——————105
टीजीटी 2006—————-223
टीजीटी 2008—————-94

कार्रवाई का डर नहीं

आयोग व बोर्ड एक्सपर्ट से पेपर तैयार करवाते हैं। इसके लिए मोटा भुगतान भी किया जाता है। गलतियां भी अधिकतर बड़े अफसरों के कारण ही हो रही है, लेकिन गलतियों के लिए जिम्मेदार अफसरों पर कठोर कार्रवाई नहीं होने के कारण लम्बित मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है।

अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड में अटकी भर्तियां

परीक्षा ————————       लम्बित मामले
जेईएन भर्ती परीक्षा 2016——–       17
ग्रामसेवक, छात्रावास अधीक्षक ——–  31
पटवार भर्ती परीक्षा 2015——–       17
लैब टैक्नीशियन, सहा.रेडियोग्राफर—–  76
पशुधन भर्ती परीक्षा 2016——–       25
प्रयोगशाला सहायक ——–               14

क्या हैं कारण

भर्तियां अटकने के कारणों में गलत सवाल, मूल्यांकन, शैक्षणिक योग्यता, न्यूनतम प्राप्तांक, आयु सीमा में छूट न अन्य शामिल हैं। भर्तियां अटकने के मुख्य कारण आयु सीमा में छूट, वर्गवार आरक्षण व गलत उत्तर हैं। विज्ञापन जारी होते ही अपत्ति मांगनी चाहिए।

-विनोद बिहारी, पूर्व सदस्य, आरपीएससी

SHARE