आरटेट में छूट से कट आफ में हुई 5 प्रतिशत बढ़ोतरी

jobs Naukri sarkari naukri govt jobs

आरटेट में छूट से कट आफ में हुई 5 प्रतिशत बढ़ोतरी

चित्तौड़गढ़। तृतीय श्रेणी (प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय) अध्यापक सीधी भर्ती परीक्षा-2013 के संशोधित परिणाम के बाद जारी नई कट आफ के आधार पर जिला परिषद ने डेढ़ गुना अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया शुरू कर दी।

पहले दिन सोमवार को लेवल-1 के अभ्यर्थियों को बुलाया गया। मंगलवार को लेवल-2 के अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापित किए जाएंगे। आरटेट में छूट के कारण कटऑफ चार से पांच प्रतिशत तक बढ गई है।

सोमवार को प्रथम लेवल के 239 पदों के लिए 285 अभ्यर्थियों को दस्तावेज जांच के लिए बुलाया गया। इसके लिए पांच टीमों में चित्तौड़गढ़, गंगरार के बीईईओ सहित तीन प्रिंसीपल लगाए गए। मंगलवार को सैकंड लेवल के 100 पदों के लिए डेढ़ गुना अभ्यर्थथ्यों को बुलाया गया है।

अंग्रेजी विषय के सात, हिंदी के 11, संस्कृत के सात, गणित-विज्ञान के 37, सामाजिक के 22 और उर्दू के छह अभ्यर्थी शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि प्रथम लेवल के 239 पदों में से पूर्व में मुख्य परिणाम और कट आफ के अनुसार 93 अभ्यर्थियों को और सैकंड लेवल में 100 पदों के लिए 49 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दे दी गई थी।

प्राथमिक स्कूलों को ज्यादा मिलेंगे नए टीचर

नई कट आफ के बाद 196 नए टीचर स्कूलों को मिल जाएंगे। सबसे ज्यादा गणित-विज्ञान के 37 शिक्षक होंगे। सामाजिक विज्ञान के 22, उर्दू के छह, अंग्रेजी के सात, हिन्दी विषय के 11 और संस्कृत विषय के सात शिक्षक शामिल हैं। सबसे ज्यादा 145 अध्यापक प्राथमिक स्कूलों को मिलेंगे।

2013 की इस भर्ती में आरटेट में 60 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्तकर्ता को ही नियुक्तियां दी गई थीं। इस बीच सुप्रीम कोर्ट से विकास बनाम राज्य सरकार मामले में निर्णय आया कि आरटेट में 60 प्रतिशत से कम अंक प्राप्तकर्ता भी योग्य हैं। इसी दौरान कुछ प्रश्नों को लेकर दायर याचिका पर हाईकोर्ट का भी आदेश गया। अब दोनों निर्णयों के आधार पर नई कट आफ जारी कर वंचित अभ्यर्थियों को नियुक्ति दी जा रही है।

प्रथम लेवल में परित्यक्त महिलाओं की कट आफ उछली

चार साल पहले की और अब जारी कट आफ को देखे तो सबसे ज्यादा उछाल प्रथम लेवल में सामान्य श्रेणी के परित्यक्त वर्ग में आया है। वर्ष 2013 में यह कट आफ 61.45 प्रतिशत थी, जो 104.82 प्रतिशत तक पहुंच गई है। प्रथम लेवल सामान्य में 158.10 की बजाय 162.64, महिलाओं की 157.95 की बजाय 162.62 रही है। विधवा केटेगिरी में ज्यादा बदलाव नहीं है। ओबीसी जनरल में 151.95 की तुलना में 152.37 रही, लेकिन इसमें परित्यकता की कट आफ 116.81 से गिरकर 75.06 हो गई है।