चित्तौड़गढ़ : पोषाहार बच्चों को परोसने से पहले नमूना रखना होगा

चित्तौड़गढ़ : पोषाहार बच्चों को परोसने से पहले नमूना रखना होगा

चित्तौड़गढ़ : स्कूलीबच्चों को खिलाए जाने वाले पोषाहार का अब रोजाना एक नमूना सुरक्षित रखना होगा,उसके बाद बच्चों को भोजन परोसा जाएगा। बच्चों के लिए तैयार पोषाहार गुणवत्तायुक्त और सुरक्षित हैं इसका लिखित में प्रमाण पत्र भी संस्था प्रधान को देना होगा।

पोषाहार की गुणवत्ता की आए दिन रही शिकायतों के बाद अब मिड डे मील आयुक्त ने इस संबंध में सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर निर्देश जारी किए हैं। जिन स्कूलों में मिड डे मील योजना के तहत पोषाहार का वितरण हो रहा है वहां संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी और बीईईओ को नियमित रूप से निरीक्षण कर इसकी गुणवत्ता को परखना होगा। वहीं संबंधित संस्था प्रधान और एमएससी के सदस्य को भोजन तैयार होने के बाद स्वयं चखकर रोजाना रिकार्ड भी रखा जाएगा। प्रमाण पत्र देना होगा कि भोजन गुणवत्तायुक्त और सुरक्षित है।

SHARE
Previous articleNET JRF ऑनलाइन फॉर्म 17 अक्टूबर से
Next article70 लाख का घपला
शिक्षा विभाग, शिक्षा व्‍यवस्‍था, सरकारी स्‍कूलों, निजी विद्यालयों, केन्‍द्रीय विद्यालय, शिक्षक संगठनों, सरकारी आदेश, शिक्षकों के लिए अवसरों संबंधी समाचारों पर आधारित न्‍यूज पोर्टल