छात्र को टीसी मांगना पड़ा महंगा, टीचर ने जंजीरों से बांधकर बेरहमी से की पिटाई

Shiksha vibhag rajasthan education news

छात्र को टीसी मांगना पड़ा महंगा, टीचर ने जंजीरों से बांधकर बेरहमी से की पिटाई

नागौर। जिले के कुचामन में एक निजी स्कूल के प्रशासक से टीसी मांगना 9वीं कक्षा के छात्र के लिए कहर साबित हुआ। टीसी मांगने पर निदेशक ने स्कूल स्टॉफ के साथ मिलकर छात्र को जंजीरों से बांधकर दरिंदगी के साथ बुरी तरह मारपीट की।

एक निजी स्कूल के निदेशक और उसके स्कूल में कार्यरत शिक्षकों ने बेरहमी की तमाम हदें पार करते हुए होस्टल में रहने वाले खुद के ही स्कूल के एक छात्र को जंजीरों से बढ़ कर मारपीट की।

नसीराबाद, अजमेर के मूल निवासी 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले पीड़ित छात्र के मुताबिक कुचामन शहर की रामा सीनियर सेकेण्डरी स्कूल के छात्रावास में दो दिन तक बंधक बनाकर जंजीर से बांधकर, प्रशासक और स्टाफ के शिक्षकों ने बुरी तरह पिटाई की, जिसके कारण दोनों हाथ, पैर, शरीर, कान और सिर में चोट लगी है।

छात्र पिछले 2 महीने से स्कूल में पढ़ रहा था, जिसका स्कूल में पढ़ाई को लेकर मन नहीं लग रहा था और लड़के के पिता ने कहा कि स्कूल से टीसी लेकर घर आजाओ यहां पढ़ लेना, लेकिन स्कूल निदेशक ने छात्र को टीसी देने से मना कर दिया।

जब इस मामले में लड़के के पिता ने कहा कि आप स्कूल की फीस 5 हजार रुपए अतिरिक्त ले सकते है, लेकिन लड़के की पिटाई नही करना, छात्र की स्कूल में 20 हजार रुपए फीस जमा बताई जा रही है और जब शनिवार 26 अगस्त को छात्र अपने गांव जाने के लिए स्कूल निदेशक को बोला तो संस्था निदेशक और टीचरों ने उसकी चैन से बांधकर बुरी तरह पिटाई की।

छात्र स्कूल से जैसे तैसे जान बचाकर 3 किलोमीटर तक पैदल दौड़ा और 2 घंटे तक कूचामन शहर के मेगा हाइवे पर एक खेत मे बैठा रहा। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस के मुताबिक, जब शाम को अंधेरा हुआ तो वह लड़का करीब 9 बजे शहर के एक होटल पर डरता हुआ आया और होटल मालिक ने रिलायंस पैट्रोल पम्प पर उसको बैठाकर पुलिस को सूचना दी, जिसका राजकीय चिकित्सालय में लाकर प्राथमिक उपचार करवाया।

नाबालिक लड़के ने पूरी घटना की जानकारी पुलिस को बताई, आगे की पूछताछ कर पुलिस ने कार्रवाई कर रही है। साथ ही पीड़ित के परिजनों को नसीराबाद से बुलाया गया है।