प्रस्‍तावित नई शिक्षा नीति 2019

New education policy 2019 New education policy 2019 Dr K. Kasturirangan Committee submits the Draft National Education

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति 2019 की रूपरेखा प्रस्‍तुत कर दी है, अब 30 जून तक इस पर आमजन एवं विशेषज्ञों की राय मांगी गई है। प्रस्‍तावित नई शिक्षा नीति में प्री स्कूल एजुकेशन पर भी जोर दिया गया है। प्री स्कूल के बच्चों के लिए भी अब पाठ्यचर्या और शैक्षिक रूपरेखा तैयार की जाएगी। इसके लिए एनसीईआरटी के कार्यक्षेत्र में  विस्तार तक किया जाएगा। जिसमें, बच्चों को और भी बेहतर ढंग से सीखने को मिलेगा।

प्री-स्कूल एजुकेशन की प्रस्तावित नीति के कुछ बिंदु
– बड़े पैमाने पर आंगनवाड़ी केन्द्रों का निर्माण किया जाएगा।
– आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को खेल आधारिक शिक्षा के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
– बेहतरीन शैक्षणिक सामग्रियां उपलब्ध कराई जाएंगी।
– पहले से चल रहे प्राथमिक विद्यालयों के साथ आंगडवाड़ी केन्द्रों को जोड़ना।
– आंगनवाड़ी केन्द्रों पर सीखने के लिए आकर्षक और प्रेरणादायक स्थानों के निर्माण के लिए विशेषज्ञों, प्रारम्भिक बाल्यावस्था शिक्षा के विशेषज्ञों, कलाकारों और वास्तुकारों की  समितियों का निर्माण होगा।
– राज्य स्तर पर शिक्षकों के लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जाएंगे।
– एक नियामक प्रणाली बनाई जाएगी जो पूर्व प्राथमिक स्कूलों (सभी सार्वजनिक, निजी एवं अनुदानित) को नियमित करेगी।

इससे पूर्व नई शिक्षा नीति के मसौदे के संबंध में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा गठित डॉ. कस्‍तूरीरंगन समिति ने कल मानव संसाधन विकास मंत्रालय को नई शिक्षा नीति का मसौदा सौंपा था। मंत्रालय ने इस संबंध में स्‍पष्‍टीकरण दिया है कि

  • समिति ने शिक्षा नीति का मसौदा सौंपा है और इसे आम जनता की राय के लिए रखा गया है। यह सरकार द्वारा घोषित नीति नहीं है। आम जनता की राय मिलने और राज्‍य सरकारों से सलाह-मश्विरे के बाद सरकार राष्‍ट्रीय शिक्षा नीति को अंतिम रूप देगी।
  • प्रधानमंत्री के नेतृत्‍व में सरकार सभी भारतीय भाषाओं के समान विकास और उनके संवर्द्धन के लिए दृढ़ संकल्‍प है। शिक्षा संस्‍थानों में किसी भी भाषा को थोपा नहीं जाएगा और न ही किसी भाषा के साथ भेदभाव किया जाएगा।

प्रस्‍तावित नई शिक्षा नीति 2019 के हिंदी प्रारूप को डाउनलोड करने के लिए निम्‍न लिंक पर क्लिक करें..


प्रस्‍तावित नई शिक्षा नीति 2019