लालसोट : आरटीई में प्रवेशित विद्यार्थियों का सत्यापन शुरू, मिली गड़बड़ियां

shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in

लालसोट : आरटीई में प्रवेशित विद्यार्थियों का सत्यापन शुरू, मिली गड़बड़ियां

लालसोट : निशुल्क बाल शिक्षा अधिकार (RTE) के तहत प्राइवेट विद्यालयों में 25 और 75 फीसदी प्रवेशित विद्यार्थियों के रिकॉर्ड का भौतिक सत्यापन का कार्य बुधवार से लालसोट रोड स्थित बड़ागांव के भारतीय महाविद्यालय में शुरू हुआ।

लवाण ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले प्राइवेट स्कूलों में आरटीई (25 फीसदी) तथा नॉन आरटीई (75 फीसदी) विद्यार्थियों के अनुपात में गड़बड़ पाई गई। आरटीई के रिकॉर्ड का पहला दिन होने के चलते मोटे तौर पर 3 विद्यालयों में गड़बड़ी उजागर हुई,आगे जांच में कई और स्कूलों इसी तरह की गड़बड़ी पकड़ में आएंगी।

लवाण बीईईओ राजाराम मीणा ने बताया कि पहले दिन बुधवार को डूंगरावता स्थित अक्षत विद्या समिति,सिंगवाड़ा की मॉडर्न स्कूल चूडियावास स्थित प्रकाश विद्या मंदिर विद्यालय की आरटीई नॉन आरटीई में प्रवेशित विद्यालयों के अनुपात में गड़बड़ पकड़ी गई। उन्होंने बताया कि गड़बड़ करने वाले विद्यालयों की पूरी सूची तैयार की जाएगी।

गड़बड़ी को समझाने के संबंध में उदाहरण स्वरूप बताया कि किसी स्कूल में कुल 40 बच्चे हैं तो आरटीई 25 फीसदी यानी 10 बच्चों का एडमिशन होना चाहिए। शेष 75 फीसदी में 30 बच्चे का नामांकन होना चाहिए, लेकिन कई स्कूलों में आरटीई नॉन आरटीई में प्रवेशित विद्यार्थियों के अनुपात में गड़बड़ है।

बिना स्वीकृति स्कूल लवाण से लालसोट में शिफ्ट किया

बीईईओराजाराम मीणा ने बताया कि भौतिक सत्यापन में सामने आया कि रीचा पब्लिक स्कूल जो नांगल राजावतान के अंतर्गत लवाण में थी,उसे शिक्षा अधिकारियों की स्वीकृति लिए बिना ही लालसोट में शिफ्ट कर लिया। उन्‍होंने बताया कि स्कूल का भौतिक सत्यापन किया जाएगा तो रिकॉर्ड में दर्शाया जाएगा कि रीचा पब्लिक स्कूल लवाण में संचालित नहीं है। बिना स्वीकृति के विद्यालय को शिफ्ट करने का खामियाजा स्कूल के कर्ताधर्ताओं को भुगतना पड़ेगा।