18 नवंबर से चलेगा ई-ओरिएंटेशन प्रोग्राम

18 नवंबर से चलेगा ई-ओरिएंटेशन प्रोग्राम
18 नवंबर से चलेगा ई-ओरिएंटेशन प्रोग्राम

18 नवंबर से चलेगा ई-ओरिएंटेशन प्रोग्राम

DU में दाखिला लेने वाले छात्रों का पहली बार होगा ई ओरिएंटेशन

दिल्ली विश्वविद्यालय में ऐसा पहली बार है जब स्नातक प्रथम वर्ष में दाखिला लेने वाले छात्रों का ऑनलाइन ओरिएंटेशन होगा या वह ई ओरिएंटेशन में हिस्सा लेंगे। कॉलेजों ने छात्रों की सुविधा को देखते हुए अलग अलग तरीके से ओरिएंटेशन की सुविधा दी है। मिरांडा हाउस कॉलेज ने कई दिन तक ओरिएंटेशन प्रोग्राम रखा है जो 18 नवंबर से चलेगा। जबकि एआरएसडी कॉलेज ने 17 नवंबर को दो-दो घंटे का आर्ट, कामर्स व साइंस स्ट्रीम के लिए ओरिएंटेशन रखा है। जबकि 18 नंवबर को विभागों से छात्रों को जोड़ा जाएगा।

एआरएसडी कॉलेज के प्रिंसिपल डा.ज्ञानतोष झा का कहना है कि हमारे यहां इस वर्ष 14 सौ छात्रों ने अब तक दाखिला लिया है। गूगल मीट के जरिए अलग अलग सत्रों में छात्रों को बुलाया जाएगा। दो घंटे के सत्र में पहले छात्रों को कॉलेज के बारे में उसकी सोसाइटी के बारे में फिर वह कैसे पढ़ाई करें इसके बारे में बताया जाएगा।

जबकि 18 नवंबर को विभाग से छात्र जुड़ेंगे और वह अपने शिक्षकों से रूबरू हो सकेंगे। उनकी कक्षाएं गूगल क्लासरूम के माध्यम से चलेंगी।

मिरांडा हाउस में 7 दिन चलेगा ओरिएंटेशन
मिरांडा हाउस कॉलेज की प्रिंसिपल डा.बिजयलक्ष्मी नंदा ने बताया कि हमारे यहां 7 दिन तक ऑनलाइन ओरिएंटेशन चलेगा। इसमें छात्राएं न केवल कॉलेज के बारे में जान सकेंगी बल्कि शिक्षक और विभाग से भी जुड़ेंगी। कॉलेज ने छात्राओं के कॉलेज के बारे में विस्तृत रूप से बताने के लिए ऑडियो विजुअल माध्यम अपनाया है।
ज्ञात हो कि नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क में यह कॉलेज देश में पहले स्थान पर है।

जूम,गूगल मीट, माइक्रोसाफ्ट टीम और गूगल क्लासरूम बने खास
डीयू के अलग अलग कॉलेज अपनी सुविधा और सेवा प्रदाता कंपनी के अनुबंध के अनुसार जूम,गूगल मीट, माइक्रोसाफ्ट टीम और गूगल क्लासरूम सहित अन्य वेब सर्विस के माध्यम से छात्रों से जुड़ेंगे। गार्गी कॉलेज सिस्को वेबएक्स पर ओरिएंटेशन डे आयोजित करेगा। बुधवार को बीकॉम प्रोग्राम, बीकॉम ऑनर्स, बीए प्रोग्राम की छात्राएं सिस्को वेबएक्स पर एक दूसरे से मुखातिब होंगी। किरोड़ीमल कॉलेज बुधवार को माइक्रोसाफ्ट टीम प्लेटफॉर्म पर ओरिएंटेशन डे आयोजित करेगा। कॉलेज ने विस्तृत रूप से अपने छात्रों को इसके बारे में बताया है कि वह अपने मोबाइल में इस एप को इंस्टाल करें और कॉलेज के इस कार्यक्रम का हिस्सा बनें।

ऑनलाइन ही दर्ज होगी उपस्थिति

कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि ऑनलाइन क्लास लेने में उपस्थिति दर्ज करने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। यहां सभी छात्र जो ऑनलाइन कक्षाएं लेते हैं उनकी ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज होती है।