REET 2022 के क्वेश्चन पेपर जारी:7 दिन में जारी होगी आंसर-की, जनवरी में होगी भर्ती परीक्षा

REET 2022 के क्वेश्चन पेपर जारी:7 दिन में जारी होगी आंसर-की, जनवरी में होगी भर्ती परीक्षा
REET 2022 के क्वेश्चन पेपर जारी:7 दिन में जारी होगी आंसर-की, जनवरी में होगी भर्ती परीक्षा

राजस्थान में 23 और 24 जुलाई को आयोजित हुई रीट एग्जाम के क्वेश्चन पेपर जारी हो गए हैं। 2 दिन चार पारियों में लेवल-1 और लेवल-2 के 4 पेपर का आयोजन किया गया था। इस दौरान अलग-अलग सीरीज के 16 पेपर कैंडीडेट्स को दिए गए है। जिन्हें पात्रता परीक्षा में शामिल हुए कैंडीडेट्स रीट की ऑफिशियल वेबसाइट reetbser2022.in से जाकर देख सकते हैं।

बता दें कि 2 दिन होने वाली भर्ती परीक्षा में राजस्थान समेत देशभर के 15 लाख से ज्यादा कैंडीडेट्स ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। ऐसे में क्वेश्चन पेपर के बाद माध्यमिक शिक्षा विभाग इसी सप्ताह रीट के फर्स्ट आंसर-की भी जारी कर सकता है।

दरअसल, राजस्थान में इस बार रीट परीक्षा के दौरान क्वेश्चन पेपर बाहर ले जाने की परमिशन नहीं थी। बावजूद इसके कई क्वेश्चन पेपर के फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुए। इसके बाद बीजेपी और छात्र संगठनों ने रीट में एक बार फिर धांधली का आरोप लगाया और निष्पकक्ष जांच की मांग की। वहीं माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी वायरल क्वेश्चन पेपर को रीट का ही बताया है। हालांकि अब तक वायरल पेपर पर कोई फैसला नहीं हुआ है। ऐसे में अगले 4 दिनों में बोर्ड की बैठक के बाद ही वायरल क्वेश्चन पेपर को लेकर कोई फैसला किया जाएगा।

जाने ग्रेड थर्ड शिक्षक भर्ती प्रक्रिया

  • राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर्स के कुल 46,500 पदों पर भर्ती होगी। इसमें लेवल-1 में 15,000 और लेवल-2 के 31,500 पद शामिल है।
  • लेवल-1 और लेवल-2 के लिए दो चरण में भर्ती परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। जिसमें 23 और 24 जुलाई की परीक्षा सिर्फ पात्रता के लिए होगी। जबकि दूसरे चरण की परीक्षा का आयोजन टीचर्स के सिलेक्शन के लिए किया जाएगा।
  • 23 और 24 जुलाई को आयोजित हुई पात्रता परीक्षा की आंसर-की पर आपत्ति के बाद सितंबर तक रिजल्ट जारी किया जाएगा।
  • इसके बाद अगले साल जनवरी में टीचर्स के सिलेक्शन के लिए एक और भर्ती परीक्षा का आयोजन होगा। इसमें सब्जेक्ट के आधार पर परीक्षा आयोजित की जाएगी।
  • लेवल-1 और लेवल-2 दोनों की परीक्षा 300 नंबर की होगी। इसके लिए उम्मीदवार को दो घंटे 30 मिनट का वक्त दिया जाएगा।
  • राजस्थान में रीट प्रमाण पत्र की वैलिडिटी पहले सिर्फ 3 साल की रहती थी। लेकिन सरकार ने वैलिडिटी को बढ़ाकर लाइफटाइम कर दिया है। ऐसे में थर्ड ग्रेड टीचर के लिए अब उम्मीदवारों को सिर्फ एक बार ही पात्रता परीक्षा देनी होगी।