बेसिक शिक्षा परिषद उप्र – 69000 शिक्षको की भर्ती में धांधली

बेसिक शिक्षा परिषद उप्र - 69000 शिक्षको की भर्ती में धांधली
बेसिक शिक्षा परिषद उप्र - 69000 शिक्षको की भर्ती में धांधली

69000 शिक्षक भर्ती: 31 हजार शिक्षक भर्ती में हुई धांधली, हजारों अभ्यर्थियों ने नहीं किया ज्वाइनिंग

उत्तर प्रदेश में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती (69000 Assistant Teachers) में जिस तरह से धांधली की गई है, उसकी परत अब सबके सामने आ रही है। इस शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers) में हुई धांधली का असर अब देखने को मिल रहा है। बेसिक शिक्षा निदेशालय (Basic Education Department) की तरफ से जारी की गई लिस्ट के बाद जहां हजारों लोगों ने अपनी काउंसलिंग नहीं कराई, तो वहीं हजारों की संख्या में प्रमाणपत्रों की गड़बड़ी की वजह से अभ्यर्थियों को ज्वाइनिंग नहीं दी गई है।

इस तरह से उत्तर प्रदेश की इस शिक्षक भर्ती में 31,277 शिक्षकों (31,277 Assistant Teachers) की जारी सूची में से महज कुल 28,320 शिक्षकों (28,320 Assistant Teachers) ने ही नियुक्ति पाई है। अभी तक हजारों (31,277 Assistant Teachers) की संख्या में अभ्यर्थी ज्वाइनिंग नहीं की है। इस शिक्षक भर्ती (31,277 Assistant Teachers) में लगभग एक हजार ऐसे अभ्यर्थी हैं जिनके प्रमाणपत्रों में कुछ गड़बड़ियां हैं और इनके फॉर्म में त्रुटि पर शासन की तरफ से अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। वहीं, इस शिक्षक भर्ती (31,277 Assistant Teachers) में दो हजार ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिन्होंने अभी तक अपना कार्यभार ही नहीं ग्रहण किया है। इसकी वजह से अभी कुल 28,320 अभ्यर्थियों (28,320 Assistant Teachers) ने ज्वाइन किया है।

इस शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers) में बहुत से ऐसे अभ्यर्थी जो कि अनापत्ति प्रमाणपत्र नहीं मिलने की वजह से ज्वाइन नहीं कर पाए हैं। दरअसल, 69 हजार शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers) में 68,500 शिक्षक भर्ती (68,500 Assistant Teachers) के भी चयनित अभ्यर्थी शामिल थे, लेकिन उन्हें ज्वाइनिंग नहीं दी गई है। उन्हें ज्वाइनिंग न मिलने की सबसे बड़ी वजह यह है कि अनापत्ति प्रमाणपत्र नहीं मिल पाया है।  68500 शिक्षक भर्ती (68,500 Assistant Teachers) में चयनित थे लेकिन बेहतर जिले की ख्वाहिश में 69000 शिक्षक भर्ती (69000 Assistant Teachers) में आवेदन किया था। घर के नजदीक में जाने की ख्वाहिश में उन्होंने आवेदन किया और घर के नजदीक उन्हें स्कूल भी मिल गया, लेकिन अभी तक बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education Department) की तरफ से उन्हें समकक्ष पद के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र नहीं दिया गया है। वहीं, आशंका है कि कुछ अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्र फर्जी भी हो सकते हैं इसलिए वे काउंसिलिंग में शामिल नहीं हुए।

बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education Department) की तरफ से 16 अक्टूबर को 31,277 शिक्षकों (31,277 Assistant Teachers) को ज्वाइनिंग दे दी गई है। इसमें से जहां हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों ने ज्वाइन ही नहीं किया तो वहीं हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों ने काउंसलिंग ही नहीं कराई है। काउंसलिंग न होने की वजह से हजारों की संख्या में अभी पद खाली चल रहे हैं। विभाग (Basic Education Department) की तरफ से ज्वाइन किए हुए अभ्यर्थियों को अब एक खास कार्यक्रम चल रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education Department) की तरफ से इन 28,320 शिक्षकों (28,320 Assistant Teachers) को विभाग में चल रही योजनाओं से परिचित कराने के लिए एक (ओरिएंटेशन) कार्यक्रम शुरू होने वाला है। दीपावली के बाद में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। यह कार्यक्रम 16 से 30 नवम्बर तक दो पालियों में डायट में कार्यक्रम चलाया जाएगा।

यहां पर अभ्यर्थियों को दो दिन तक प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें अभ्यर्थियों (31,277 Assistant Teachers) को मिशन प्रेरणा, आधारशिला, फाउंडेशन लर्निंग मॉड्यूल, ध्यानाकर्षण मॉड्यूल सहित अन्य योजनाओं और विभाग (Basic Education Department) में चल रहे कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बताया जाएगा। इसके अलावा नए शिक्षकों (31,277 Assistant Teachers) को विभाग (Basic Education Department) की तरफ से दीक्षा ऐप पर उपलब्ध सामग्री, लर्निंग आउटकम, रीमिडयल टीचिंग के बारे में भी बताया जाएगा। इसके अलावा डायट में नव नियुक्त शिक्षकों में मिशन प्रेरणा लक्ष्य की समझ, मानव संपदा पोर्टल पर सभी को अपना विवरण भरना, दीक्षा ऐप, एम स्थापना ऐप डाउनलोड करना, प्रेरणा पोर्टल पर कैसे करके पंजीकरण करना है, यू ट्यूट पर लॉगिन करके अपलोड ई कंटेंट को देखना सहित उसको समझने से लेकर अन्य चीज के बारे में विस्तार से बताया जाएगा।