सर्वशिक्षा अभियान कार्यालय में ऑडिट के नाम पर वसूली का मामला

Sarva Shiksha Abhiyan
सर्व शिक्षा अभियान

सर्व शिक्षा अभियान में चला था नोटों का खेल… परिषद से पहुंचा जांच दल

डूंगरपुर। सर्वशिक्षा अभियान की ओर से ऑडिट के नाम पर कथित वसूली का आरोप लगाते हुए शिक्षक संघ सियाराम की ओर से किए गए दिसम्बर माह में किए हल्ला बोल कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को राजस्थान प्रारम्भिक शिक्षा परिषद् से जांच दल पहुंचा। दल ने सुबह दस बजे से चार बजे तक जांच दल ने अलग-अलग वार्ताएं कर संबंधित अधिकारियों, संघ के पदाधिकारियों, शिक्षकों आदि के बयान दर्ज किए। परिषद् के जिला प्रभारी गिरीश भारद्वाज के साथ दो अन्य अधिकारी सुबह दस बजते ही कार्यालय पहुंचे और यहां उन्होंने शिक्षक संघ सियाराम के पदाधिकारियों प्रदेा उपाध्यक्ष सुभाष भट्ट, प्रदेश प्रतिनिधि मोहित त्रिवेदी, जिलाध्यक्ष विश्राम कटारा, उपाध्यक्ष हरिओम पंचाल, प्रदेश महिला संगठन मंत्री अनिता पण्ड्या, जिलामंत्री निखिल जैन एवं शिक्षक लालशंकर पाटीदार के बयान दर्ज किए। इसके बाद अलग-अलग समय में सर्वशिक्षा अभियान के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक गोवर्धनलाल यादव, लेखाधिकारी अशोक जैन तथा प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी की ओर से गठित जांच दल के अधिकारियों से बात की।

यह था मामला

सर्वशिक्षा अभियान की ओर से विभिन्न मदों में विभाग की ओर से जारी बजट, लेखा प्रपत्रों आदि की दिसम्बर माह में ऑडिट की जा रही थी। इस दौरान शिक्षक लालशंकर पाटीदार ने मय फोटो के साथ सियाराम पदाधिकारियों को शिकायत दर्ज करवाई, जिसमें ऑडिट के नाम पर सर्वशिक्षा अभियान के अधिकारियों की ओर से राशि लेने का आरोप लगाया था। इस मामले को सियाराम ने प्रमुखता से उठाया तथा हल्ला बोल कार्यक्रम किया।

जिला जांच महज खानापूर्ति

संगठन की ओर से जांच दल की मांग उठाए जाने पर डीईओ प्रारम्भिक ने तीन सदस्यीय जांच दल गठित किया। लेकिन, सर्वशिक्षा अभियान के एडीपीसी गोवर्धनलाल यादव ने जांच दल में शामिल अधिकारियों को समान केडर एवं निम्न केडर का बताकर जांच दल से जुड़ी सूचनाएं कभी सांझा ही नहीं की। ऐसे में जांच पूर्ण नहीं हो सकी। इस पर संगठन ने जिला कलक्टर से जांच की मांग की। लेकिन, यहां से भी फोरी कार्रवाई होने पर संगठन ने मुख्यमंत्री कार्यालय को शिकायत दर्ज करवाई। इस पर दल पहुंचा।