CBSE : स्टूडेंट्स को स्मार्ट कार्ड दिलाए जाएंगे

CBSE : Central Board of Secondary Education

CBSE : स्टूडेंट्स को स्मार्ट कार्ड दिलाए जाएंगे

स्कूल फीस और टीचर्स की सैलरी को कैशलेस बनाने के बाद सीबीएसई ने अब स्कूलों से छात्रों के बीच कैशलेस ट्रांजैक्शन की आदत को बढ़ावा देने का सुझाव दिया है। इसके लिए कैंटीन और टक-शॉप पर स्मार्ट कार्ड शुरू करने के लिए कहा गया है। स्कूलों से छात्रों को घर पर और घर के बाहर भी इसे बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित करने को कहा गया है।

7 दिसंबर को सीबीएसई ने 350 नोडल स्कूलों की एक मीटिंग आयोजित की। इस मीटिंग में चर्चा की गई कि स्कूलों को पूरी तरह कैशलेस कैसे बनाया जाए। तीन बाद इसने नॉन स्टाफ को बैंक ट्रांसफर के माध्यम से सैलरी और फीस भी नॉन कैश मोड में लेने के लिए सर्कुलर जारी किया।

बोर्ड अपनी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ई-वॉलिट्स जैसे बडी और पेटीएम की अनुमति देने जा रहा है। जनवरी से शुरू होने वाले नए साइकिल में परीक्षा फीस के भुगतान के लिए चालान माध्यम को खत्म कर दिया जाएगा। सारे पेमेंट्स डेबिट/क्रेडिट कार्ड्स या नेट बैंकिंग से स्वीकार किए जाएंगे।

केंद्रीय विद्यालय संगठन ने भी भुगतान के विभिन्न कैशलेस माध्यम पर नौवीं क्लास से ऊपर के छात्रों और शिक्षकों को प्रशिक्षण देने का फैसला किया है। संगठन ने समाज के विभिन्न वर्गों को जागरूक करने के लिए स्काउट्स और गाइड्स की सर्विसेज भी इस्तेमाल करने का फैसला किया है।