दिवाली बाद खुलेंगे महाराष्ट्र में स्कूल, टीचर्स को देना होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट

दिवाली बाद खुलेंगे महाराष्ट्र में स्कूल, टीचर्स को देना होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट | Maharashtra School Reopening 2020
दिवाली बाद खुलेंगे महाराष्ट्र में स्कूल, टीचर्स को देना होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट | Maharashtra School Reopening 2020

दिवाली बाद खुलेंगे महाराष्ट्र में स्कूल, टीचर्स को देना होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट

Maharashtra School Reopening 2020

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार, 8 नवंबर 2020 को घोषणा की कि राज्य के स्कूल दिवाली बाद से खोले जाएंगे। सीएम ने कहा कि स्कूलों सभी जरूरी सुरक्षात्मक उपायों के साथ ही खोला जाएगा। राज्य सरकार की इस घोषणा के बाद सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के सात महीनों के बाद फिर से चलाये जाने को अनुमति मिल गयी है। हालांकि, राज्य सरकार ने सभी स्कूलों के टीचर्स को कोविड-19 की जांच के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट देने की अनिवार्यता लागू की है। टीचर 17 नवंबर के बाद टेस्ट करा सकते हैं

महाराष्ट्र मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार राज्य बोर्ड या अन्य केंद्रीय बोर्ड से सम्बद्ध राज्य में स्थित स्कूलों को 9वीं से 12वीं तक की कक्षाओं के आयोजन के लिए दिवाली के बाद 23 नवंबर से खोला जा सकेगा।

स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर और गाइडलाइंस जल्द

महाराष्ट्र राज्य सरकार के स्कूलों को फिर से खोले जाने की औपचारिक घोषणा के बाद राज्य सरकार द्वारा टीचिंग एवं नॉन-टीचिंग स्टाफ सहित स्कूलों, पैरेट्स और स्टूडेंट्स के लिए महामारी के बीच क्लासेस के लिए जरूरी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर और गाइडलाइंस का इंतजार है। राज्य सरकार द्वारा एसओपी और गाइडलाइंस जल्द ही जारी किये जाने की उम्मीद है।

एक दिन छोड़कर लगेंगी कक्षाएं, एक बेंच एक ही स्टूडेंट

इससे पहले महाराष्ट्र राज्य सरकार में शिक्षा वर्षा गायकवाड़ ने जानकारी दी थी कि स्कूलों को फिर से खोले जाने के बाद कक्षाओं में एक सीट या बेंच पर एक ही छात्र के बैठने की व्यवस्था स्कूल प्रशासन को करनी होगी। स्कूलों में सामाजिक दूरी के पालन के लिए कक्षाओं का आयोजन एक दिन छोड़कर आयोजित की जाएंगी। साथ ही, सरकार की तरफ से कहा गया है कि स्टूडेंट्स को स्कूल आने से पहले ब्रेकफास्ट/लंच करके आना होगा और पानी की बोतल साथ लानी होगी।