Eduation News 1 September 2017 : बोर्ड परीक्षाओं के लिए अब तक 10 लाख से अधिक आवेदन

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड Rajasthan Board of secondary education RBSE

Eduation News 1 September 2017 : बोर्ड परीक्षाओं के लिए अब तक 10 लाख से अधिक आवेदन

Eduation News : राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की वर्ष 2018 की मुख्य परीक्षाओं के लिए गुरुवार तक प्रदेश के सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के 10 लाख से अधिक विद्यार्थी आवेदन कर चुके हैं। 7 सितंबर तक बिना विलंब शुल्क के आवेदन किए जा सकेंगे।

बोर्ड अध्यक्ष प्रो. बीएल चौधरी के अनुसार परीक्षा आवेदन की प्रक्रिया जारी है। अब तक प्रदेश के 10 लाख 11 हजार से अधिक विद्यार्थी आवेदन कर चुके हैं। 7 सितंबर रात 12 बजे तक आवेदन किया जा सकेगा। बोर्ड द्वारा कक्षा 10वीं, प्रवेशिका, 12वीं विज्ञान, वाणिज्य और कला वर्ग के साथ ही वरिष्ठ उपाध्याय के लिए भी ऑनलाइन आवेदन भराए जा रहे हैं। विलंब शुल्क के साथ भी विद्यार्थियों को ऑनलाइन आवेदन भरने का मौका दिया जाएगा।

20 लाख तक पहुंच सकती है संख्या

बोर्ड सूत्रों के मुताबिक अभी ऑनलाइन आवेदन में एक सप्ताह का समय शेष है। इसके साथ ही सप्लीमेंट्री परीक्षा में प्रविष्ट हुए विद्यार्थी भी बाद में मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन भरेंगे। ऐसे में यह संख्या 20 लाख तक पहुंच सकती है।

अंतिम तिथि बढ़ाई जा सकती है

बोर्ड अध्यक्ष प्रो. चौधरी ने बताया कि सरकारी कार्यालयों में हड़ताल के चलते कई जगहों पर आवेदन भराने में परेशानी की शिकायतें मिली हैं। इसकी समीक्षा कराई जा रही है। आवश्यक हुआ तो बोर्ड अंतिम तिथि बढ़ा सकता है।


शिक्षक भर्ती के लिए नियमों में संशोधन की अधिसूचना जारी

जयपुर। पंचायती राज विभाग ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती के लिए नियमों में संशोधन की अधिसूचना जारी की है। यह अधिसूचना अब बीकानेर स्थित प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय को भेजी जाएगी। इसके बाद तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2016 के सेकंड लेवल की संशोधित विज्ञप्ति जारी हो सकेगी। इसके जरिए 7500 पदों पर भर्ती होनी है। नई विज्ञप्ति के आधार पर इस भर्ती के सेकंड लेवल का शिक्षक बनने के लिए स्नातक के 30 प्रतिशत अंक और रीट या आरटेट के 70 प्रतिशत अंक जोड़ते हुए मेरिट बनाई जाएगी।


शारीरिक शिक्षक के बिना छात्राएं खेल प्रतियोगिता में नहीं जा पाईं

नैनवां। स्थानीय सीनियर सैकंडरी स्कूल में शारीरिक शिक्षक नहीं होने का खामियाजा जिला स्तरीय हाॅकी प्रतियोगिता में भाग लेने जाने के लिए छात्राओं को भुगतना पड़ रहा है। बुधवार को छात्राओं ने काॅलेज छात्र संघ पूर्व अध्यक्ष दिलखुश पोटर जयेश शर्मा के नेतृत्व में तहसीलदार गजराज सिंह को ज्ञापन देकर स्कूल में शारीरिक शिक्षक की व्यवस्था करने की मांग की।

प्रतियोगिता में भाग लेने वाली छात्रा किरण भारती, कविता मीणा, राजा बाई ने बताया कि हम जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए पिछले एक माह से तैयारियां कर रहे है, लेकिन स्कूल में शारीरिक शिक्षक नहीं होने के अभाव में हमको प्रतियोगिता में भाग लेने से वंचित किया जा रहा है।

तहसीलदार गजराज सिंह ने बताया कि छात्राओं का ज्ञापन डीईओ (मा.) को भेज दिया है। उधर, स्कूल के प्रधानाध्यापक केसी गुप्ता ने बताया कि शारीरिक शिक्षक नहीं होने से एक शिक्षक रामसहाय को खेल प्रभारी का बना रखा है। इसको छात्रों की प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए हाकी की टीम को लेकर देई में भिजवाया जाएगा, लेकिन छात्राओं की टीम को प्रतियोगिता से वंचित होना पड़ेगा।


14 वर्षीय दक्ष की एण्ड्रॉइड एप्‍प 180 देशों में लॉन्च

उदयपुर: नौवीं के 14 वर्षीय छात्र दक्ष अग्रवाल ने चौथी एण्ड्रॉइड एप्लीकेशन 180 देशों में लॉन्च की है। गूगल ने एप्प को परखा और अपने एप्प स्टोर पर लॉन्च किया। यह एप समूह में हुए खर्चों का ऑनलाइन हिसाब रखेगी। दक्ष शहर के सेंट पॉल्स स्कूल का विद्यार्थी है। ये एप्प गूगल प्ले स्टोर से बिना किसी फीस के सभी देशों में डाउनलोड की जी सकती है। इसके माध्यम से गु्रप के सभी मेम्बर एक साथ अपने खर्चे व्यवस्थित रख सकेंगे।

खास बात ये भी कि एप्लीकेशन समान रूप से सभी देशों में काम करेगी। इसे किसी भी देश की मुद्रा के लिए काम में लिया जा सकता है। दक्ष पढ़ाई के साथ ही रोजाना 4-5 घंटे एप्प डवलपमेंट के लिए निकालता है। दक्ष 3 सालों में चौथी एप्लीकेशन बना चुका है। दक्ष की प्रोग्रामिंग भाषाओं पर अच्छी पकड़ है। दक्ष ने दुनिया के टेक्नोलॉजी एक्सपटर््स से ब्लॉग्स के माध्यम से राय लेकर प्रोजेक्ट को पूरा किया। एप्प गूगल प्ले स्टोर पर ‘माय शेयर प्लस’ के नाम से उपलब्ध है। दक्ष की बनाई एप की खासियत यह भी है कि इसमें आप एक साथ अलग-अलग कई ग्रुप मेन्टेन कर सकते हैं।


फूड प्वाइजनिंग से केलवा कस्तूरबा स्कूल की 30 छात्राओं की तबीयत बिगड़ी

केलवा। क्षेत्रके देवतलाई स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल की 30 छात्राओं की बुधवार देर रात को फूड प्वाइजनिंग से तबीयत बिगड़ गई। इस पर उन्हें केलवा चिकित्सालय में लाया गया। कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल में शाम को खाने के साथ नुक्ती के लड्‌डू खिलाए गए थे। इसके बाद इन छात्राओं की तबीयत बिगड़ने पर सभी को उल्टी जी घबराने की शिकायत पर चिकित्सालय में लाया गया। जहां पर जिला प्रजनन शिशु रोग अधिकारी डॉ. सुरेश मीणा केलवा चिकित्सा प्रभारी डॉ. सुरेंद्र निठारवाल ने छात्राओं का उपचार किया। राजसमंद उपप्रधान भरत पालीवाल ने घटना स्थल का जायजा लिया।


पहला टेस्ट हो गया, 11वीं, 12वीं की किताबें नहीं मिली

राजसमंद। स्कूलोंमें बड़ी कक्षाओं के हालात यह हैं कि अब तक भी स्कूलों में ग्यारहवीं, बारहवीं कक्षाओं की किताबेंं नहीं पहुंची है। जबकि राजसमंद राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मंडल के डिपो में 11वीं जीव विज्ञान की किताबें मंगलवार के दिन पहुंची है। जबकि 12वीं जीव विज्ञान की किताबें आधे स्कूलों में आई भी नहीं है। छात्रों ने बिना किताबों के ही पहला टेस्ट दे दिया। जिले के 21 स्कूलों में जीव विज्ञान संकाय चलता है। स्कूल खुले हुए दो माह से भी ज्यादा समय हो गया। लेकिन अभी तक भी स्कूलों में किताबें नहीं पहुंची है। जबकि इस माह स्कूल में प्रथम टेस्ट भी हो गया। जिले की अधिकांश स्कूलों में 12वीं कक्षा की पुरानी किताबे देकर काम चलाया गया। जबकि 11वीं कक्षा के सभी संकाय का इस बार कोर्स बदल गया। पुरानी किताबें देने से पढ़ाई नहीं हो पाई है। कुछ अध्यापकों ने नेट से सेलेबस अपलोड करके पुरानी किताबों से पढ़ाई करवाई है। एक अध्यापक ने बताया कि नया सेलेबस पुरानी किताबों के आधार पर पढ़ाई करवाकर पहला टेस्ट लिया है। पूरी नई किताबें आएगी तभी पढ़ाई सुचारू हो पाएगी।


अखिल राजस्थान प्रबोधक संघ की बैठक

ब्यावर। अखिल राजस्थान प्रबोधक संघ की बुधवार को बैठक आयोजित हुई। संघ के जिलाध्यक्ष सोहन काठात ने बताया कि बैठक का आयोजन उपभोक्ता भवन में किया गया। जिसमें निर्णय लिया गया कि 4 सितम्बर को ब्लॉक मसूदा के सभी प्रबोधक सामुहिक अवकाश पर रहेंगे। जहां सुबह 10 से शाम 5 बजे तक एक दिन का सांकेतिक धरना दिया जाएगा। यह धरना जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर किया जाएगा। बैठक में जिला अध्यक्ष सोहन काठात, जिला संयोजक मदन सिंह, मसूदा ब्लॉक अध्यक्ष जयप्रकाश, जिला संगठन मंत्री दिलीप सिंह, राजेन्द्र कुमार, नोरतमल रावत, इब्राहीम काठात, चुन्नीलाल गहलोत आदि उपस्थित थे।


तीन साल में 17वीं बार चोरों का निशाना बना बलाईखेड़ा स्कूल, इस बार ट्रांसफार्मर चुराया

मांडल। तीन सालों में चोरी की यह 17वीं वारदात है। इस बार चोर स्कूल में विद्युत कनक्शन के लिए लगे ट्रांसफार्मर को खोल ले गए। बलाई खेड़ा स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में चोरी की वारदात रूकने का नाम नहीं ले रही है। पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। गत तीन सालों में चोरी की यह 17वीं वारदात है। इस बार चोर स्कूल में विद्युत कनक्शन के लिए लगे ट्रांसफार्मर को खोल ले गए। लगातार हो रही चोरी की वारदातों से ग्रामीणों में रोष है। जानकारी के अनुसार बीती रात चोर विद्यालय के बाहर लगे ट्रांसफार्मर को खोल ले गए। चोरी की घटना का पता सुबह लगा। मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। तीन साल में इस स्कूल में चोरी की यह 17वीं वारदात तथा एक माह में चोरी की यह चौथी घटना है। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। लागातार चोरी की घटनाओं से ग्रामीणों में रोष है। गौरतलब है कि 22 अगस्त की रात को भी चोर इस स्कूल के पोषाहार कक्ष का ताला तोड़कर पोषाहार सामग्री, गैस चूल्हा सहित अन्य सामान चुरा ले गए। लगातार चोरी की क्षेत्र के लोगों में दहशत फैल गई है। ग्रामीणों ने चोरी की वारदात खोलने की मांग की है। मौके पर वार्ड पंच पूरणनाथ कालबेलिया, दिनेश खटकी सहित कई ग्रामीण मौजूद रहे।