पांचवीं बोर्ड- परीक्षा में गणित की जगह खुल गया पर्यावरण विषय का प्रश्नपत्र

बंडल पर सब्जेक्ट लिखा होने से खोला नहीं, तुरंत भिजवाया गणित का पेपर

जोधपुर। पांचवीं बोर्ड परीक्षा (Fifth board examination) में गणित के प्रश्नपत्र की जगह पर्यावरण विषय का प्रश्नपत्र खुलने का मामला सामने आया है। परीक्षार्थियों को वीक्षक की ओर से पेपर दिए तो गणित की जगह पर्यावरण का प्रश्न पत्र देख स्टूडेंट्स ने कहा, गणित का नहीं ये तो पर्यावरण का प्रश्न पत्र है। इसके बाद वीक्षक ने आनन फानन में प्रश्न पत्र वापस लिए और पर्यावरण विषय के प्रश्नपत्रों को लिफाफे में बंद कर बीईईओ कार्यालय भेज दिए। इसके बाद गणित का पेपर मंगवाए और वितरित किए। इस कारण करीब एक घंटे बाद परीक्षा शुरु हो पाई। सांगरिया सीनियर सैकंडरी स्कूल में 25 स्कूलों के पांच सौ बच्चों का परीक्षा केंद्र है। सोमवार को यहां परीक्षा शुरू होने से थोड़ा पहले लूणी बीईईओ कार्यालय से प्रश्नपत्र लाए गए थे। प्रश्नपत्रों के बंडल में एक पैकेट पर्यावरण विषय का निकल गया, जिसकी परीक्षा 11 अप्रैल को होनी है। सांगरिया स्कूल के प्रधानाचार्य शंभूसिंह जोधा ने बताया, कि स्कूल में 25 स्कूलों के 500 स्टूडेंट्स का सेंटर आया हुआ है। सोमवार को गणित की परीक्षा के दौरान एक बंडल जिसमें 50 प्रश्न पत्र होते है, गणित की जगह पर्यावरण विषय का निकल गया। पैकेट पर सब्जेक्ट लिखा होने से उसे बिना खोले बीईईओ कार्यालय में जमा करवा दिया। पर्यावरण का पेपर आउट होने के सवाल पर कहा, कि जब लिफाफा खोला ही नहीं गया तो पेपर आउट कैसे हो सकता है।

बंडल पर विषय लिखा होने से खोला नहीं

परीक्षा केंद्र पर गणित विषय की जगह पर्यावरण विषय का बंडल पहुंचने पर कार्यालय से तुरंत गणित विषय का बंडल भेज दिया गया था। प्रश्नपत्र का बंडल खोला नहीं गया था, पेपर आउट होने जैसी कोई घटना नहीं हुई है।

-शंकरसिंह चंपावत, प्रधानाचार्य जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान