तीन दिन में पांच हजार विद्यार्थी अनुपस्थित

shivira shiksha vibhag rajasthan December 2016 shiksha.rajasthan.gov.in district news DPC, RajRMSA, RajShiksha Order, rajshiksha.gov.in, shiksha.rajasthan.gov.in, अजमेर, अलवर, उदयपुर, करौली, कोटा, गंगानगर, चित्तौड़गढ़, चुरू, जयपुर, जालोर, जैसलमेर, जोधपुर, झालावाड़, झुंझुनू, टोंक, डीपीसी, डूंगरपुर, दौसा, धौलपुर, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, प्राइमरी एज्‍युकेशन, प्राथमिक शिक्षा, बाड़मेर, बारां, बांसवाड़ा, बीकानेर, बीकानेर Karyalaye Nirdeshak Madhyamik Shiksha Rajisthan Bikaner, बूंदी, भरतपुर, भीलवाड़ा, माध्‍यमिक शिक्षा, मिडल एज्‍युकेशन, राजसमन्द, शिक्षकों की भूमिका, शिक्षा निदेशालय, शिक्षा में बदलाव, शिक्षा में सुधार, शिक्षा विभाग राजस्‍थान, सरकार की भूमिका, सवाई माधोपुर, सिरोही, सीकर, हनुमानगढ़

पांचवीं कक्षा परीक्षा : आखिर क्‍या है इसका कारण, जानें

जिले में अब तक पांचवीं कक्षा के तीन पेपर हुए हैं, लेकिन तीन पेपर में 4960 बच्चे अनुपस्थित रहे हैं।

उदयपुर। पांचवीं कक्षा की जिला स्तरीय मूल्यांकन परीक्षा ने इस बार बच्चों से लेकर अभिभावकों की परेशानियों को बढ़ा दिया है। अन्य स्कूल में परीक्षा देने जाने की व्यवस्था का असर उपस्थिति पर पड़ा है। जिले में अब तक पांचवीं कक्षा के तीन पेपर हुए हैं, लेकिन तीन पेपर में 4960 बच्चे अनुपस्थित रहे हैं। पहले दिन 1655 और दूसरे दिन 1659 और तीसरे दिन सोमवार को 1646 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। अब तक यह व्यवस्था थी कि पांचवीं कक्षा की परीक्षा उसी स्कूल में होती थी, लेकिन इस बार कई स्कूलों के बच्चों को अन्य परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा देने जाना पड़ रहा है। कई विद्यार्थियों को चार किलोमीटर दूरी तक परीक्षा देने जाना पड़ रहा है। अभिभावकों का कहना है कि वे बच्चे की परीक्षा को लेकर पहले कभी परेशान नहीं हुए, लेकिन इस बार उन्हें सुबह जल्दी उठकर बच्चे को अन्य परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा दिलवाने के लिए जाना होता है। जब तक उसकी परीक्षा नहीं होती तब तक वहीं बैठना होता है।

यह है व्यवस्था

वर्तमान में कुल 58915 विद्यार्थी परीक्षा में पंजीकृत थे। पांच अप्रेल से शुरू हुई इस परीक्षा में जिले के 4804 (3781 सरकारी और 1023 निजी) स्कूलों के 58 हजार 895 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए। हालांकि जिले भर में परीक्षा के लिए करीब 1842 परीक्षा केन्द्र बनाए गए है। हो सकता है स्कूलों ने लगातार अनुपस्थित रहने वाले बच्चों के नाम काटे ना हो और इनकी संख्या परीक्षा देने वालों के लिए बता दी हो। इतनी संख्या में अनुपस्थित रहने की पूरी जानकारी जुटाकर ही कुछ कहा जा सकता है।

-शिवजी गौड़, उपनिदेशक प्रारंभिक उदयपुर

तृतीय श्रेणी से द्वितीय श्रेणी अध्यापकों की वर्ष 2018-19 की अस्थाई पात्रता सूची, 12 तक मांगी आपत्तियां

अस्थाई पात्रता सूची जारी की जाकर 12 अप्रेल तक आपत्तियां आमंत्रित की गई हैंं

उदयपुर। उदयपुर मण्डल की टीएसपी एवं नॉन टीएसपी क्षेत्र की तृतीय श्रेणी से द्वितीय श्रेणी अध्यापकों की वर्ष 2018-19 की अस्थाई पात्रता सूची जारी की जाकर 12 अप्रेल तक आपत्तियां आमंत्रित की गई है। शिक्षा उपनिदेशक भरत मेहता ने बताया कि कार्मिक अपनी परिवेदना संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी को 12 अप्रेल तक प्रस्तुत करना होगा। संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी 13 अप्रेल तक प्राप्त परिवेदनाओं का निस्तारण करते हुए संबंधित प्रभारी के साथ सॉफ्ट व हॉर्ड कॉपी में अनिवार्यत: शाम 5 बजे तक उदयपुर मण्डल के शिक्षा उपनिदेशक कार्यालय में व्यक्तिश: प्रस्तुत करनी होगी।