covid-19 effect : स्कूलों में 31 तक अवकाश, बच्चे घर में रहकर इस तरह कर सकेंगे पढ़ाई

covid-19 effect : स्कूलों में 31 तक अवकाश, बच्चे घर में रहकर इस तरह कर सकेंगे पढ़ाई
covid-19 effect : स्कूलों में 31 तक अवकाश, बच्चे घर में रहकर इस तरह कर सकेंगे पढ़ाई

covid-19 effect : स्कूलों में 31 तक अवकाश, बच्चे घर में रहकर इस तरह कर सकेंगे पढ़ाई


सीधी. स्कूल शिक्षा विभाग के आदेशानुसार लगातार सामने आ रहे कोरोना मामलों के कारण सभी शालाएं 31 जनवरी तक बंद रहेंगी। एपीसी ने बताया कि इस दौरान विद्यार्थियों की शिक्षा की निरंतरता के लिए 17 जनवरी से हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम पुन: प्रारंभ किया जाएगा। प्रतिदिन नियमित अध्ययन के लिए घर में ही शाला जैसा वातावरण निर्मित कर शैक्षिक गतिविधियां संचालित की जाएंगी।सीधी. स्कूल शिक्षा विभाग के आदेशानुसार लगातार सामने आ रहे कोरोना मामलों के कारण सभी शालाएं 31 जनवरी तक बंद रहेंगी। एपीसी ने बताया कि इस दौरान विद्यार्थियों की शिक्षा की निरंतरता के लिए 17 जनवरी से हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम पुन: प्रारंभ किया जाएगा। प्रतिदिन नियमित अध्ययन के लिए घर में ही शाला जैसा वातावरण निर्मित कर शैक्षिक गतिविधियां संचालित की जाएंगी।विद्यार्थी अपने घर के वातावरण परिवेश, परिवार के बड़े सदस्यों, शाला व कॉलेज में अध्ययनरत भाई-बहन के सहयोग से घर पर ही रहकर पढ़ाई करेंगे। इसके अलावा बच्चे के पास सीखने के स्त्रोत के रूप में उपलब्ध रेडियो, पाठ्यपुस्तक एपं अभ्यास पुस्तिका के आधार पर लर्निंग पैकेज तैयार किया गया है। प्रधानाध्यापक की भूमिका
प्रतिदिन अपने विद्यालय के शिक्षकों से चर्चा कर उनसे हमारा घर हमारा विद्यालय के क्रियान्वयन की जानकारी लेंगे। प्रतिदिन 5 अभिभावकों से चर्चा कर उन्हें हमारा घर हमारा विद्यालय के अंतर्गत होने वाली गतिविधियों के बारे में अवगत कराएंगे। घर जाकर बच्चों के प्रतिदिन कांपी की जांच करेंगे। पूर्व की भांति प्रत्येक शाला से एम शिक्षा मित्र पर प्रविष्टि की जाएगी। शालाएं पूर्णत: बंद होने की स्थिति में प्रतिभा पर्व मूल्यांकन के लिए प्रोजेक्ट बुकलेट प्रत्येक बच्चों को घर पर उपलब्ध कराई जाएगी। बच्चों द्वारा बुकलेट 15 जनवरी से 5 फरवरी तक पूर्ण किया जाएगा। जिसे 6 से 15 फरवरी तक शाला में जमा करना होगा। शिक्षकों द्वारा 25 फरवरी तक मूल्यांकन पूर्ण किया जाएगा।
शिक्षकों की यह रहेगी भूमिका
शिक्षकों के मोबाइल पर एक दिन पूर्व शांम 08 बजे तक वीडियो भेजे जाएंगे। प्रतिदिन अपने विद्यालय के कम से कम 5 बच्चों से मोबाइल के माध्यम से पढ़ी गई सामग्री पर चर्चा कर अगले दिन की सामग्री के बारे में बताएंगे। जिनके पास मोबाइल उपलब्ध नहीं है उनके घर जाकर हमारा विद्यालय के कार्य का अवलोकन कर फीडबैक देंगे।

कराएंगे गतिविधियां
सुबह 10 से 11 बजे तक रेडियो स्कूल, 11 से 01 बजे तक एटग्रेड अभ्यास पुस्तिका पर कार्य करेंंगे। परिवार के सदस्यों द्वारा अपने घर में हमारा घर हमारा विद्यालय कार्यक्रम का प्रारंभ प्रतिदिन सुबह 10 बजे घंटी या थाली बजाकर किया जाएगा। दोपहर 01 बजे घंटी थाली बजाकर अवकाश किया जाएगा। बच्चों को निर्धारित समय पर घर में लिखने पढऩे के लिए एक स्थान शिक्षा का कोना नियत करेंगे। स्टेशनरी, वीडियो के माध्यम से प्राप्त सामग्री के अध्ययन के लिए मोबाइल उपलब्ध कराएंगे।