जेईई एडवांस : लॉक करने के बाद भी बदल पाएंगे उत्तर

JEE Advanced 2018

दोनों पेपर देने पर ही आएगा रिजल्ट

डूंगरपुर। पहली बार ऑनलाइन होने वाली जेईई एडवांस परीक्षा के लिए आईआईटी कानपुर ने छात्रों की जिज्ञासा को दूर करने के सवाल-जवाब जारी किए हैं। इनमें स्पष्ट किया गया है कि जेईई एडवांस में भी एक बार आंसर को सेव करने के बाद छात्रों के पास उसको बदलने का अवसर रहेगा। 12वीं का एग्जाम देने वाले स्टूडेंट्स को भी इस साल परीक्षा के लिए योग्य माना जाएगा। इस नियमावली में ऑनलाइन परीक्षा से होने वाले फायदों का भी उल्लेख किया गया है। अब तक जेईई एडवांस पेन एंड पेपर मोड पर होने के कारण एक बार आंसर को ओएमआर शीट पर भरने के बाद उसे बदलना संभव नहीं था। अब सवालों के जवाब भरने के बाद भी उसको भी बदला जा सकता है। मेन्स या मुख्य परीक्षा के पंजीयन में शैक्षिक प्रमाण पत्रों को संलग्न करने के बाद दुबारा इनको लगाने की जरूरत नहीं होगी।

इसी तरह प्रवेश पत्र डाउनलोडिंग में आने वाली समस्याओं के बारे में कहा गया है कि ऐसी स्थिति में स्टूडेंट्स को जोनल आईआईटी कोऑर्डिनेटर से संपर्क करना होगा। इसके साथ ही पहले और दूसरे दोनों प्रश्न देने पर ही परिणाम घोषित किया जाएगा। एक पेपर नहीं देने की स्थिति में छात्र को अनुपस्थित माना जाएगा। जेईई एडवांस के रजिस्ट्रेशन के समय भाषा का विकल्प ऑप्शन भरने की जरूरत नहीं रहेगी। ऑनलाइन परीक्षा के दौरान दोनों ही भाषाओं में सवाल देखने का विकल्प भी अब रखा है।

स्कूलों में हिंदी-अंग्रेजी पद स्वीकृत की मांग के लिए दिया ज्ञापन

बीकानेर। राज्य के पांच हजार स्कूलों में अनिवार्य हिंदी-अंग्रेजी के पद स्वीकृत करने की मांग के संबंध में रेस्टा प्रतिनिधिमंडल ने भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक को ज्ञापन दिया है। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे रेस्टा के प्रदेश उप सभाध्यक्ष मोहरसिंह सलावद ने बताया कि मांग को गंभीरता से लेते हुए भाजपा प्रकोष्ठ के किशनलाल राजपुरोहित ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पत्र भेजा। ताकि राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालयों में हिंद-अंग्रेजी के व्याख्याता के पद स्वीकृत होने पर विद्यार्थियों की पढ़ाई नियमित हो सके।