माध्यमिक शिक्षा में शिक्षकों के 32 हजार से अधिक पद हैं खाली

माध्यमिक शिक्षा में शिक्षकों के 32 हजार से अधिक पद हैं खाली

माध्यमिक शिक्षा में शिक्षकों के 32 हजार से अधिक पद हैं खाली


प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों के 32 हजार से अधिक पद खाली पड़े हैं। पिछले चार महीने में ही खाली पदों की संख्या में चार हजार की बढ़ोतरी हो गई। इनमें सर्वाधिक खाली पद व्याख्याताओं के हैं। विभाग की ओर से जारी जनवरी महीने की रिपोर्ट के अनुसार व्याख्याताओं के 12755 पद खाली पड़े हैं।

तृतीय श्रेणी शिक्षकों के खाली पदों की संख्या 11732 है। इसी तरह से वरिष्ठ अध्यापकों के 9378 पदों पर नई नियुक्तियों के बावजूद अभी 9117 पद खाली हैं। आरपीएससी की ओर से हुई स्कूल व्याख्याता भर्ती-2018 में अभी 5 हजार पदों नियुक्ति मिलना बाकी है। अगर इस भर्ती में नियुक्ति मिल जाएगी तो व्याख्याताओं के खाली पदों की संख्या घटकर 7755 रह जाएगी। अभ्यर्थी सरकार की घोषणा के मुताबिक 3 हजार पदों पर नई स्कूल व्याख्याता भर्ती शुरू होने का भी इंतजार कर रहे हैं।

रीट से होगी 31000 पदों पर भर्ती
सरकार ने रीट-2021 की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 8 फरवरी है। 25 अप्रैल को परीक्षा होगी। रीट के परिणाम के बाद 31 हजार पदों पर तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती की जानी है। लेकिन इन शिक्षकों की नियुक्ति सीधे माध्यमिक शिक्षा में नहीं होती। इनको पहले जिला परिषदों के जरिए प्रारंभिक शिक्षा में पोस्टिंग मिलती है।
इसलिए माध्यमिक शिक्षा में खाली तृतीय श्रेणी शिक्षकों के 11732 पदों को सेटअप परिवर्तन से भरने का प्रावधान है। सरकार अगर प्रारंभिक शिक्षा से मा. शिक्षा में सेटअप परिवर्तन करती है तो माध्यमिक शिक्षा में पद भर जाएंगे और प्रांरभिक शिक्षा में खाली हो जाएंगे। इससे इन पदों पर नई भर्ती की जा सकती है।