बिना सूचना के गायब रहा शिक्षक तनख्वाह काटी तो डीईआे से उलझा

shivira shiksha vibhag rajasthan December 2016 shiksha.rajasthan.gov.in district news DPC, RajRMSA, RajShiksha Order, rajshiksha.gov.in, shiksha.rajasthan.gov.in, अजमेर, अलवर, उदयपुर, करौली, कोटा, गंगानगर, चित्तौड़गढ़, चुरू, जयपुर, जालोर, जैसलमेर, जोधपुर, झालावाड़, झुंझुनू, टोंक, डीपीसी, डूंगरपुर, दौसा, धौलपुर, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, प्राइमरी एज्‍युकेशन, प्राथमिक शिक्षा, बाड़मेर, बारां, बांसवाड़ा, बीकानेर, बीकानेर Karyalaye Nirdeshak Madhyamik Shiksha Rajisthan Bikaner, बूंदी, भरतपुर, भीलवाड़ा, माध्‍यमिक शिक्षा, मिडल एज्‍युकेशन, राजसमन्द, शिक्षकों की भूमिका, शिक्षा निदेशालय, शिक्षा में बदलाव, शिक्षा में सुधार, शिक्षा विभाग राजस्‍थान, सरकार की भूमिका, सवाई माधोपुर, सिरोही, सीकर, हनुमानगढ़

बांसवाड़ा। माध्यमिक शिक्षा विभाग के जिला कार्यालय में शुक्रवार को अजीब हालात सामने आए, जब डीईओ के सामने एक शिक्षक बिफरने लगा। गैरहाजिर रहने पर तनख्वाह काटने की सख्ती पर प्राचार्य से स्कूल में उलझने के बाद उसने यहां भी अमर्यादित होकर बदजुबानी नहीं छोड़ी, तो डीईओ ने उसे निकल जाने को कह दिया। हुआ यूं कि सीनियर सैकंडरी स्कूल भलेर भोदर की प्राचार्य आनंदी कटारा अपने अधीन सैकंड ग्रेड शिक्षक श्रीकांत मीणा की ओर से स्कूल में किए जा रहे बर्ताव से परेशान होकर डीईओ कार्यालय पहुंची। यहां अपनी पीड़ा बताते हुए वे रो पड़ीं। उन्होंने डीईओ आरपी द्विवेदी को बताया कि मीणा 14 फरवरी से 22 फरवरी तक बिना सूचना दिए गैरहाजिर रहे। इस बारे में जवाब मांगने पर भी नहीं दिया, तो उन्होंने तनख्वाह काटी। फिर इस बारे में चर्चा पर जवाब मांगा, तो नहीं भी जवाब दिया और स्थानीय नेताओं के साथ मिलकर दुर्व्यवहार किया। ऐसे माहौल में काम करने में खुद को अक्षम बताते हुए कटारा का गला रुंध गया। इस पर डीईओ ने शिक्षक मीणा को हाथों-हाथ नोटिस थमाया। कार्यालय अधीक्षक से इसे लेने से इनकार कर मीणा यह कहकर डीईओ के सामने ही अड़ गए कि मैंने छुट्टी की सूचना दी थी और पहले नोटिस में संशोधन किया जाए, तभी वह उसे लेगा।

बहस ज्यादा बढ़ी, तो उस दौरान मौजूदा पृथ्वीगंज स्कूल के प्राचार्य वसुमित्र सोनी ने दखल दिया और इसे उच्चाधिकारी के सामने अनुशासनहीनता बताते हुए मीणा को लिखित जवाब में अपनी बात कहने की सलाह दी, लेकिन वे ठस से मस नहीं हुए। इस पर डीईओ द्विवेदी ने शिक्षक को तुरंत रवाना कर दिया। बाद में प्राचार्य कटारा भी वस्तुस्थिति से अवगत करवाकर डीईओ से आगे के दिशा-निर्देश लेने के बाद लौट गई।

दफ्तर में भलेर भोदर स्कूल के शिक्षक श्रीकांत मीणा का रवैया खराब था। समझाने पर भी बात नहीं मानी, इसलिए रवाना करना पड़ा। मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। स्कूल की प्राचार्य को अगले आदेश तक उनकी तनख्वाह नहीं बनाने के निर्देश दिए हैं।

-आरपी द्विवेदी, डीईओ माध्यमिक

सातवीं-आठवीं के बच्चों की अंग्रेजी कमजोर, शिक्षकों से समझाइश

बांसवाड़ा। अतिरिक्त कलेक्टर हिम्मतसिंह बारहठ ने शुक्रवार को सरकारी उत्कृष्ट उच्च प्राथमिक स्कूल, उदपुरा का अचानक मुआयना कर सातवीं तथा आठवीं में बच्चों का शैक्षिक स्तर परखा। इस दौरान हिंदी में तो अधिकांश बच्चों का स्तर सामान्य था, अंग्रेजी में कमजोर पाए गए। इस पर बारहठ ने स्तर सुधार के लिए शिक्षकों को कक्षाओं में सही तरीके से पढ़ाने के निर्देश दिए। इससे पहले उन्होंने उच्च माध्यमिक स्कूल, सेनावासा में आयोजित 18 पीईईओ और अभिभावकों की बैठक में अलख योजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने संस्थाप्रधानों और अभिभावकों की शंकाओं का समाधान भी किया। एडीएम ने योजना की कार्ययोजना, शालादर्पण की पूर्णता के बारे में जानकारी लेकर रिकार्ड संधारण के बारे में शिक्षकों को निर्देश दिए। साथ ही शिक्षकों को विद्यार्थियों की प्रोफाइल गंभीरता से पूरी बनाने के साथ न्यूनतम शैक्षिक स्तर सुनिश्चित करने के लिए अभिभावकों को भी प्रेरित किया। एडीईओ (माध्यमिक) शैलेंद्र भट्ट, रमसा के एडीपीसी जयदीप पुरोहित सहित संस्थाप्रधान व अभिभावक मौजूद थे।

बीईईओ के मुआयने में दोपहर ढाई बजे बंद मिला रूपपुरा का स्कूल

बांसवाड़ा। ब्लॉक की झरनिया पंचायत के तहत सरकारी प्राथमिक स्कूल, रूपपुरा शुक्रवार दोपहर ढाई बजे बंद मिला। संस्था प्रधान खुद भी गायब थे, वहीं उनके बारे में पीईईओ भी बेखबर रहे। यह हालात शुक्रवार को अचानक मुआयने के दौरान ब्लॉक शिक्षा अधिकारी नितिन त्रिवेदी ने देखे। त्रिवेदी ने बताया कि स्कूल समय सुबह 9.30 बजे से 3.40 बजे तक है। निरीक्षण के लिए पहुंचने पर स्कूल पर ताले मिले, वहीं शिक्षक-बच्चा कोई भी आसपास नहीं था। इस पर झरनिया पीईईओ को बुलाकर पूछा गया। उन्होंने प्रधानाध्यापक प्रवीण जोशी द्वारा स्कूल बंद कर जाने के बारे में कोई सूचना देने से इनकार किया।