प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस में ऑनलाइन स्‍नातक कोर्स

प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस में ऑनलाइन स्‍नातक कोर्स RajasthanShiksha.Com

आईआईटी मद्रास ने दुनिया का पहला ऑनलाइन पाठ्यक्रम जारी किया है, जो प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस में स्‍नातक स्‍तर की डिग्री देगा। यह पाठ्यक्रम पूरी तरह वेब आधारित है। इस स्‍नातक स्‍तर तक के कोर्स को पूरा करने के लिए छात्र को किसी कैंपस में जाने की जरूरत नहीं। यही नहीं, अपने नियमित कैंपस पाठ्यक्रम के साथ भी इस कोर्स को किया जा सकता है। इसे नौकरीपेशा भी ज्‍वाइन कर सकते हैं।


www.oniltegree.iitm.ac.in


केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने एक वर्चुअल समारोह में इसे लांच किया। यह पाठ्यक्रम (बी.एससी. डिग्री) उन छात्रों के लिए है जिन्होंने दसवीं कक्षा के स्तर पर अंग्रेजी और गणित की पढ़ाई के साथ बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण कर ली हो और किसी भी संस्थान में अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रम में दाखिला लिया हो।

एक करोड़ नौकरियों की संभावना

डेटा साइंस सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से एक है जो एक अनुमान के अनुसार अगले पांच छह वर्ष में इस क्षेत्र में दुनियाभर में एक करोड़ से अधिक नौकरियों का सृजन होने की संभावना है। इस क्षेत्र की संभावनाओं को देखते हुए और कोरोना के चलते बनी बाधाओं को पूरा करने के लिए देश के सबसे बेहतरीन शिक्षण संस्‍थान आईआईटी मद्रास ने कोर्स को डिजाइन किया गया है।

कौन शामिल हो सकता है

इसे देश के किसी भी कोने में बैठा अभ्‍यर्थी केवल इंटरनेट और कंप्‍यूटर की मदद से पढ़ सकता है। सत्र 2020 में बारहवीं कक्षा पूरा करने वाले छात्रों का मौजूदा बैच इस पाठ्यक्रम के लिए आवेदन करने का पात्र है। स्नातक और नौकरी कर रहे पेशेवर भी इस कार्यक्रम में दाखिला ले सकते हैं। जो छात्र अभी देश में कहीं भी अलग ऑन-कैंपस कार्यक्रम में दाखिला ले चुका है, वो अपने करियर या पाठ्यक्रम को बदले बिना भी इस डिग्री पाठ्यक्रम में नामांकन करा सकता है। यहां तक ​​कि वे नियोक्ता भी जो अपने कर्मचारियों के कौशल को बढ़ाना चाहते हैं, कर्मचारियों के उत्पादन समय में बिना किसी नुकसान के इस विकल्प पर विचार कर सकते हैं।

कैसे काम करेगा

इस कोर्स को एक अत्याधुनिक ऑनलाइन पोर्टल के जरिए चलाया जाएगा और यह देश के दूरदराज के इलाकों के शिक्षार्थियों को आकर्षित करेगा जहां डिजिटल साक्षरता की पहुंच न्यूनतम है और इस तरह उन्हें अपने कैरियर की तलाश में आगे रहने में मदद करेगा। यह सुनिश्चित करने के लिए कि ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफ़ॉर्म छात्रों को कक्षा में बैठकर पढ़ाई करने या सीखने जैसा अनुभव कराए, पाठ्यक्रम में संकाय से वीडियो, छात्रों को सीधे साप्ताहिक असाइनमेंट्स, नियमित पाठ्यक्रमों की तरह ही परीक्षाएं भी ली जाएंगी। यह पाठ्यक्रम आंकड़ों का प्रबंधन करने, प्रबंधकीय अंतर्दृष्टि प्राप्त करने के लिए पैटर्न को समझने, प्रतिरूपों का पता लगाने में सहायता करने वाले मॉडल बनाने सहित कई काम में छात्रों के कौशल को बेहतर बनाएगा ताकि वे प्रभावी व्यापारिक फैसले ले सकें।

पाठ्यक्रम और फीस

इस अनूठे ऑनलाइन पाठ्यक्रम को तीन अलग-अलग चरणों में पेश किया जाएगा- फाउंडेशनल प्रोग्राम, डिप्लोमा प्रोग्राम और डिग्री प्रोग्राम। पाठ्यक्रम के प्रत्येक चरण में छात्रों को पाठ्यक्रम छोड़ने और आईआईटी मद्रास से क्रमशः प्रमाण पत्र, डिप्लोमा या एक डिग्री प्राप्त करने की आजादी होगी। पात्रता के आधार पर इच्छुक उम्मीदवारों को एक फॉर्म भरना होगा और क्वालीफायर परीक्षा के लिए 3000 रुपये का मामूली शुल्क देना होगा। छात्रों को 4 सप्ताह के लिए 4 विषयों (गणित, अंग्रेजी, सांख्यिकी और कम्प्यूटेशनल सोच) की पढ़ाई करनी होगी। इन छात्रों को ऑनलाइन पाठ्यक्रम व्याख्यान दिए जाएंगे ऑनलाइन असाइनमेंट जमा करने होंगे और 4 सप्ताह के अंत में एक व्यक्तिगत स्तर पर क्वालिफायर परीक्षा देंगे। आईआईटी की विशिष्ट प्रवेश प्रक्रियाओं के विपरीत इस कार्यक्रम में वे सभी छात्र जो (50% के कुल स्कोर के साथ) पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण किए हों, वे फाउंडेशनल प्रोग्राम में पंजीकरण के लिए पात्र होंगे।

कार्यक्रम के बारे में अधिक जानकारी के लिए www.oniltegree.iitm.ac.in पर लॉग ऑन करें।