बच्चों के खेलने के लिए दो स्कूलों में विकसित होगा खेल मैदान

Vollyball sport rajasthan girls
file photo

बांसवाड़ा । अनुसूचित जाति विभाग (टीएडी) की ओर से सरकारी स्कूलों में खेल मैदान (Playground) विकसित करने के लिए इस वर्ष 20 लाख की स्वीकृति जारी हुई है। इसमें राउमावि कनबा और राउमावि सीमलवाड़ा के खेल मैदान को विकसित किया जाएगा। इसके लिए टीएडी ने कार्यकारी एजेंसी रमसा को मनोनीत किया है। दोनों स्कूलों के प्रस्ताव पर वित्तीय स्वीकृति मिलने के बाद टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इन मैदानों में फुटबॉल, बैडमिंटन, बॉस्केटबॉल और वालीबॉल कोर्ट बनेगा।

20 लाख की लागत से कनबा और सीमलवाड़ा स्कूल के खेल मैदान में फुटबॉल मैदान का होगा निर्माण

खेल मैदान जहां पर बॉस्केटबॉल, वालीबॉल-बैडमिंटन कोर्ट बनेगा।

वॉलीबॉल : वॉलीबॉल के लिए करीब 18 मीटर लम्बा और 9 मीटर चौड़ा कोर्ट बनेगा। इसके मध्य में दो पोल लगाकर जाली (नेट) लगेगी।

बैडमिंटन : बैडमिंटन में 20 फीट चौड़ा और 44 फीट लम्बा कोर्ट बनेगा। इसके बीच में नेट लगाई जाएगी। इस कोर्ट के फर्श को मजबूत और सपाट बनाया जाएगा।

फुटबॉल : 90 मीटर चौड़ा और 120 मीटर लम्बा आयताकार फुटबॉल मैदान बनेगा। इसका फर्श भी कच्चा रहेगा।

बॉस्केटबॉल : 94 फीट लम्बा और 50 फीट चौड़ा बॉस्केटबॉल का कोर्ट बनेगा। इसके दोनों ओर बॉस्केटपोल लगेंगे। यह कोर्ट सीमेंट पक्का होगा।

बदलाव : खेल मैदान के विकसित होने से इन स्कूलों और ग्रामीण क्षेत्र के खिलाड़ी पिछले कई वर्षों से हॉकी खेल में जिला स्तर पर प्रथम आ रही है। विशेषकर कनबा क्षेत्र के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई है। यहां पर वॉलीबॉल, बैडमिंटन और बॉस्केट के कोर्ट बनने से इन खेलो में भी बच्चों का रुझान बढ़ेगा।