Rain water harvesting : स्‍कूलों में बारिश की तैयारी

Rain-water-harvesting
Rain-water-harvesting

स्‍कूलों में बारिश की तैयारी : स्‍कूलों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग (Rain water harvesting) के लिए राज्‍य सरकार ने जारी किए आदेश

बीकानेर। रेन वॉटर हार्वेस्टिंग यानी वर्षा जल के संरक्षण के प्रयास के मद्देनजर इस बार सभी सरकारी स्‍कूलों को जोड़ने की कवायद की जा रही है। इस बाबत राज्‍य सरकार ने राज्‍य के सभी माध्‍यमिक विद्यालयों के प्रधानाध्‍यापकों एवं प्रधानाचार्यों को आदेश जारी कर 300 वर्ग मीटर क्षेत्र या इससे बड़े क्षेत्र में फैले स्‍कूलों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग के लिए निर्माण कराने एवं जिन विद्यालय भवनों में इसके लिए आवश्‍यक निर्माण पूर्व में हो चुका है, वहां सफाई व्‍यवस्‍था कराए जाने के आदेश जारी किए हैं।

राज्‍य सरकार के आदेश में बताया गया है कि अंधाधुंध भूजल दोहन का परिणाम यह हुआ है कि राज्‍य की 295 पंचायत समितियों में से 204 पंचायत समितियों में भूजल इतना नीचे जा चुका है कि इन क्षेत्रों को भूजल विभाग ने डार्क जोन घोषित कर दिया है। इस स्थिति से निपटने के लिए सरकारी कार्यालयों का प्रभावी उपयोग करने का प्रयास किया जा रहा है।

पूर्व में राजभवन में रेन वाटर हार्वेस्टिंग का प्रयास किया गया, इस सफल प्रयोग के परिणामस्‍वरूप क्षेत्र के भूजल स्‍तर में चार से पांच मीटर की बढ़ोतरी हुई है। इसे देखते हुए अब इस योजना को राज्‍य के सभी सरकारी कार्यालयों में लागू करने का प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में माध्‍यमिक शिक्षा परिषद ने सभी विद्यालयों को इस आशय के आदेश जारी किए हैं।

मौसम विभाग के अनुसार इस वर्ष औसत से अधिक वर्षा होने का अनुमान है। ऐसे में वाटर हार्वेस्टिंग का यह प्रयास राज्‍य की अधिकांश पंचायत समितियों को डार्क जोन से बाहर लाने वाला साबित हो सकता है।