राजस्थान में बदल रहा रिपोर्ट कार्ड सिस्टम

हरियाणा में 4 जून को सुपर-100 परीक्षा:शिक्षा विभाग ने जारी किया शेड्यूल; 7543 ने किया आवेदन, जींद-करनाल में अतिरिक्त सेंटर बनाए
हरियाणा में 4 जून को सुपर-100 परीक्षा:शिक्षा विभाग ने जारी किया शेड्यूल; 7543 ने किया आवेदन, जींद-करनाल में अतिरिक्त सेंटर बनाए

छात्रों को व्‍यावहारिक और सामाजिक क्षेत्रों के प्र‍ति जाग्रत करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा एक असेसमेंट सिस्‍टम तैयार किया जा रहा है जिसमें बच्‍चों के सर्वांगीण विकास पर विशेष ध्‍यान दिया जाएग, इसके अलावा टैक्‍स्‍ट बुक पर आधारित एक प्रश्‍न बैंक भी तैयार किया जा रहा है

वर्षों से हम देखते आए हैं कि वर्षभर पढ़ाई होती है जिसके बाद टेस्ट, अर्धवार्षिक और फिर वार्षिक परीक्षा होती है. इन परीक्षाओं में छात्र अपने विषयों में जितना बेहतर प्रदर्शन करता है उतने ही अच्छे प्रतिशत या ग्रेड प्राप्त करता है. यह भी देखा गया है कि कुछ छात्र दूसरी एक्टिविटी में बेहतर होते हैं लेकिन विषयों में पिछड़ जाते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. राजस्थान में स्कूली विद्यार्थियों के फाइनल रिपोर्ट कार्ड का तरीका अगले साल से बदलने वाला है. अब छात्रों का होलिस्टिक रिपोर्ट कार्ड यानी समग्र प्रगति प्रतिवेदन बनेगा. इसके आधार पर ही ग्रेड दी जाएगी और विद्यार्थी को आगे बढ़ाया जाएगा.

तैयारियों में जुटा शिक्षा विभाग
अब स्कूलों में किताबी ज्ञान के अलावा बच्चों का हेल्थ, इमोशनल, फिजिकल और सोशल असेसमेंट भी किया जाएगा. सरकार के निर्देश मिलने के बाद शिक्षा विभाग ने राज्य स्तर पर एक असेसमेंट सेल बनाई है. इसमें 30 विशेषज्ञों को शामिल किया गया है. सेल के निर्देशन में जिला और ब्लॉक स्तर पर असेसमेंट सेल बनाई जा रही है. शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि असेसमेंट सेल से एक प्रश्न बैंक तैयार किया जा रहा है जिसमें किताबी ज्ञान के अलावा व्यवहारिक और सामाजिक क्षेत्र से जुड़ी जानकारियां होंगी. इसकी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं और इसकी जिला स्तर पर मॉनिटरिंग होगी.