आरपीएससी अध्यक्ष गर्ग रिटायर

SHIVIRA Shiksha Vibhag Rajasthan
SHIVIRA Shiksha Vibhag Rajasthan

नई भर्तियां लाने के लिए किए जाएंगे याद

नए अध्यक्ष का इंतजार

अजमेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) के मौजूदा अध्यक्ष डॉ राधेश्याम गर्ग का कार्यकाल मंगलवार को पूरा हो रहा है। डॉक्टर गर्ग का कार्यकाल एक के बाद एक नई भर्तियां लाने के लिए याद किया जाएगा। उन्हें इस मायने में भी याद किया जाएगा कि 18599 भर्तियां निकालने के बावजूद इनमें से वह किसी की भी परीक्षा आयोजित नहीं करा सके।

– गर्ग ने सोमवार को आयोग के अन्य सदस्यों के साथ बैठक की और अब तक की स्थिति की समीक्षा की। गर्ग का कार्यकाल करीब 4 महीने का रहा। इस दौरान उनके कार्यकाल में वरिष्ठ अध्यापक ग्रेड सेकंड 2016 के गणित और उर्दू विषय के परिणाम संशोधित करने पड़े।

– उन्होंने अपने कम समय के कार्यकाल के दौरान कुछ लंबित परीक्षाओं के आयोजन कराए, विशेषकर कृषि विभाग की 2015 की परीक्षा नगर नियोजन विभाग की 2014 की परीक्षा खान एवं भूविज्ञान विभाग की 2014 की परीक्षा के आयोजन कराए।

– इसके साथ ही उन्होंने कॉलेज लेक्चरर 2014 के विधि जूलॉजी पॉलिटिकल साइंस समाज शास्त्र आदि के इंटरव्यू आयोजित किए, लेकिन कोर्ट केस के चलते इनमें से जिनके इंटरव्यू हो चुके हैं उनके परिणाम अभी घोषित नहीं किए जा सके हैं।

– आयोग द्वारा कॉलेज लेक्चरर होम साइंस होम मैनेजमेंट 2010 के 2 पदों के लिए साक्षात्कार आयोजित किए गए, लेकिन 34 अभ्यर्थियों में से कोई अभ्यर्थी साक्षात्कार के लिए नहीं पहुंचा। एक अभ्यर्थी कोर्ट के आदेश पर इंटरव्यू के लिए आया। आयोग द्वारा इस साक्षात्कार का परिणाम घोषित किया गया और बताया गया कि पात्र अभ्यर्थी नही मिलने से यह दोनों सीटें फिर खाली रह गई हैं।

18599 पदों पर भर्ती के निकाले विज्ञापन

– गर्ग ने अपने इस कार्यकाल के दौरान आरएएस 2018 के 980 पद सहित माध्यमिक शिक्षा विभाग, कार्मिक विभाग, जल संसाधन विभाग, पंचायत राज विभाग, संस्कृत शिक्षा विभाग, कॉलेज शिक्षा निदेशालय समेत विभिन्न विभागों में 18599 पदों पर भर्ती निकाली, लेकिन यह भी एक इतिहास रहेगा की गर्ग इनमें से एक भी पद के लिए भर्ती परीक्षा का आयोजन अपने कार्यकाल के दौरान नहीं कर पाए। कारण अभी विभिन्न पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन का सिलसिला जारी है और उनका कार्यकाल मंगलवार को पूरा होने जा रहा है। ऐसे में वे किसी भी परीक्षा का आयोजन नहीं कर पा रहे हैं।

नए अध्यक्ष की तलाश

– इधर, राज्य सरकार के स्तर पर आयोग के नए अध्यक्ष की तलाश शुरू हो गई है। कुछ नाम चर्चाओं में हैं। इनमें राज्य के मुख्य सचिव के साथ ही आयोग के भाजपा शासन काल के एक सदस्य का नाम भी इस दौड़ में बताया जा रहा है।

– राज्य सरकार किसको आयोग का अध्यक्ष बनाएगी और कब बनाएगी यह कहना अभी मुश्किल है। कारण सरकार इस पद पर भी जातिगत समीकरणों के साथ ही विधानसभा चुनाव को भी ध्यान में रखेगी। इसके चलते यह सीट बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाती है।

राजस्थान में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2017 को लेकर हाईकोर्ट ने दिए ये आदेश, अब सिर्फ इनका ही होगा चयन

जयपुर। प्रदेश में सरकारी नौकरियों को लेकर बड़ी खबर है। राजस्थान में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2017 को लेकर हाईकोर्ट ने आदेश जारी किए हैं। कोर्ट ने ये आदेश सोमवार को जारी किए जिनमें राजस्थान में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2017 में केवल उसी परीक्षार्थी का चयन होगा जिसके पास समान विषय होगा। आपको बता दें कि कोर्ट ने ये आदेश मनीष बोहरा की याचिका पर दिया है। जिसमें साफ़ तौर पर बताया है कि तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2017 में केवल उन्हीं अभ्यर्थियों का चयन होगा जो समान विषय में पास हुआ हो। उसके पास स्नातक, बीएड और रीट में समान एक जैसे विषय रहें हो। तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2017 में जस्टिस एमएन भंडारी की खंडपीठ ने राजस्थान सरकार को यह आदेश दिया है। गौरतलब है की कोर्ट ने इसी महीने में तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2017 को लेकर निर्देश जारी किए थे। हाईकोर्ट ने निर्देश दिए थे की तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती-2017 (LEVEL 2 ) में विज्ञान और गणित विषय में 900 से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति के मामले में दोनों विषयों की मेरिट सूची अलग-अलग बनेगी और इनकी नियुक्ति भी अलग-अलग ही विषयों के अनुसार ही होगी।