बच्चों की खुशी के लिए स्कूल लिया गोद

SHIVIRA Shiksha Vibhag Rajasthan
SHIVIRA Shiksha Vibhag Rajasthan

छात्रावास की मदद के लिए भी रहीं आगे

बांसवाड़ा। शहर की तीन महिलाओं ने बच्चों की खुशी के लिए स्कूल (School) गोद ले लिया। इसके अलावा 2 छात्रावास में भी सेवाकार्य में वे आगे रही हैं। इन महिलाओं की ओर से स्वप्रेरित होकर ही बच्चों की यूनिफॉर्म-स्टेशनरी से लेकर छोटी-छोटी जरूरतें पूरी की जाती है। यह कार्य वे बच्चों के साथ खुद की खुशी के लिए करती हैं। खासबात यह है कि इसके लिए न उनके पास एनजीओ का सहारा है और न कहीं से अनुदान लेने की जरूरत लगी।

शहर की सिंगवाव बावन डेरी क्षेत्रवासी प्रेरणा उपाध्याय, शिव कॉलोनी की शर्ली जॉय और मदारेश्वर रोड की क्षेत्रवासी सकीना हुसैन ने बच्चों काे हरसंभव सहयोग करने का संकल्प 5 साल पहले महिला दिवस पर ही लिया था। इनमें प्रेरणा और सकीना हाउस वाइफ हैं, जबकि शर्ली जॉय अस्पताल में नर्स हैं। इन्होंने मिलकर नवागांव के आगे स्थित सागवाड़िया स्कूल को गोद लिया। यहां फिलहाल 65 बच्चे अध्ययनरत हैं। इन बच्चों के लिए बेंच बनवाई। हर साल यहां पढ़ने वाले बच्चों के यूनिफॉर्म, किताबें, दरी-पटिट्यां, भोजन के लिए थाली-गिलास, ठंड में स्वेटर, स्कूल में डस्टबिन की व्यवस्था की जाती है। प्रेरणा उपाध्याय ने बताया कि एनजीओ के बगैर भी आप सेवा के काम कर सकते हैं। उन्हें कभी इसके लिए इसकी जरूरत इसलिए भी नहीं हुई कि वे आत्मसंतुष्टि के लिए ये काम करती हैं। रुपए कमाना उनका उद्देश्य नहीं रहा। यही वजह है कि स्कूल में जब-जब बच्चों को कॉपियां-पेन या स्टेशनरी की जरूरत होती है तो उन्हें सूचना देने मात्र से उसकी व्यवस्था की जाती है, चाहे किसी एक बच्चे को ही जरूरत क्यों न हो।