शिक्षा विभाग का नवाचार कौतूहल

शिक्षा विभाग का नवाचार कौतूहल

जिले भर में लागू होगा शिक्षा विभाग का नवाचार कौतूहल

कलेक्टर महादेव कावरे ने कलेक्टर सभाकक्ष में शिक्षा अधिकारी की बैठक लेकर पढ़ाई तुंहर दुआर, मोहल्ल क्लास, आनलाइन क्लास, बच्चों को प्रदाय की जानी वाली छात्रवृति, सूखा राशन वितरण,गणवेश और पुस्तक एवं साइकिल वितरण सहित अन्य सबंध में समीक्षा की। कलेक्टर ने विकासखंड शिक्षा अधिकारियों को टीएल के लंबित आवेदनों का निराकरण गंभीरता से करने के निर्देश दिए है। समीक्षा के दौरान उन्होंन बगीचा विकासखंड के बीईओ को कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि छोटे-छोटे कार्यों के लिए शिक्षकों, भृत्य और अन्य कर्मचारियों को मुख्यालय आने की आवश्यता न पड़े इसका विशेष ध्यान रखें और विकासखंड स्तर पर उनकी समस्याओं का तत्परता से निराकरण करने के निर्देश दिए है।

उन्होंने कहा कि विकासखंड शिक्षा अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि सभी विकासखंडों में अंग्रेजी माध्यम स्कूल का चयन करना है और वहां बच्चों को शासन के मंशा अनुसार अंग्रेजी शिक्षा की सुविधा उपलब्ध कराया जाना है। जिला शिक्षा अधिकारी एन कुजूर ने बताया कि 8 विकासखंडों में अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए स्कूल का चयन किया गया है। कलेक्टर ने सभी बीईओ को अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए मूलभूत सुविधाएं सामग्री एवं स्कूल के सुदृढ़ीकरण के लिए अनुमानित राशि की जानकारी देने के निर्देश दिए हैं ताकि शासन को प्रस्ताव भेजा जा सके।

समीक्षा के दौरान उन्होंने पढ़ाई तुंहर दुआर के तहत आनलाइन शिक्षा की भी जानकारी ली और शिक्षकों को गंभीर होकर बच्चों को आनलाइन शिक्षा से जोड़ने के निर्देश दिए हैं उन्होंने कहा कि पहली से लेकर 12 वीं तक के बच्चों का मासिक मूल्यांकन भी करें ताकि उनके बौद्धिक क्षमता की जानकारी शिक्षकों को मिलती रहे। शिक्षकों को बच्चों को पढ़ाए जाने वाले विषयों का डेली डायरी भी संधारित करने के निर्देश दिए है। साथ ही सभी विकासखंडों में बगीचा विकासखंड में चलाए जा रहे मिशन कौतूहल जैसा नवाचार अन्य विकासखंडो में भी लागू करने के लिए कहा है। उन्होंने मिशन कौतूहल के तहत बच्चों को विषय के प्रति जानने और सिखने का अवसर मिलता है बच्चे सरल पद्धति से चीजों को सीखते है। उन्होंने छात्रवृत्ति की आनलाइन प्रवृष्टि कराने के भी निर्देश दिए है।

साथ ही विद्यालय समिति का गठन करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि लगभग जिले में सवा आठ सौ शिक्षकों का संविलियन किया गया है। उनका प्राण नंबर जनरेट करवाने के भी निर्देश दिए है। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि स्कूली बच्चों को शत् प्रतिशत् गणवेश का वितरण कर दिया गया है और सूखा राशन भी दिया जा रहा है। समीक्षा के दौरान उन्होंने राज्य छात्रवृत्ति की आनलाइन प्रवृष्टि करना। फीस निर्धारण, संविलयन शिक्षकों की प्राण नंबर प्राप्त कर वेतन निर्धारण करना,फीस निर्धारण समिति का गठन करना। अल्संख्यक छात्रवृत्ति हेतु स्कूलों का सत्यापन करना,विद्यार्थियों का मासिक मूल्यांकन करना बिंदुओं पर चर्चा की गई। इस अवसर पर जिपं सीईओ केएस मंडावी, डिप्टी कलेक्टर आकांक्षा त्रिपाठी, डीईओ एन कुजूर,जशपुर बीईओ एमजेडयू सिद्दीकी एवं अन्य बीईओ उपस्थित थे।