शिक्षक ने एसएमसी अध्यक्ष के फर्जी हस्ताक्षर कर उठाए 5 लाख रुपए

shivira shiksha vibhag rajasthan shiksha.rajasthan.gov.in

धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जांच शुरू

डूंगरपुर। बिछीवाड़ा क्षेत्र के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल गेड़ की एसएमसी अध्यक्ष के फर्जी हस्ताक्षर कर एक दूसरी स्कूल में कार्यरत शिक्षक ने 5 लाख रुपए की राशि उठा ली। गेड़ एसएमसी अध्यक्ष लक्ष्मी डोडियार ने बिछीवाड़ा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराकर बताया कि राजकीय माध्यमिक स्कूल पालीसोडा में कार्यरत शिक्षक प्रदीप कुमार ने फर्जी हस्ताक्षर किए। फिर 5 लाख रुपए की राशि उठा ली। इस मामले को लेकर पुलिस छानबीन में जुट गई है। हालांकि पूरे मामले में कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं, क्योंकि एसएमसी के खाते की चेकबुक आखिर शिक्षक प्रदीप कुमार के पास कैसे पहुंची और चेक पर हस्ताक्षर का मिलान बैंक द्वारा क्यों नहीं किया गया। फिलहाल इस मामले में मुकदमा दर्ज हुआ है और पुलिस की छानबीन में पूरे प्रकरण का फर्जीवाड़ा सामने आने की उम्मीद है।

सुप्रीम कोर्ट ने डीम्ड विवि की डिग्री अमान्य की फिर भी जिला परिषद ने 9 का चयन कर दिया

डूंगरपुर। जिला परिषद की ओर से 3 अप्रैल 2018 को कनिष्ठ तकनीकी सहायक भर्ती को लेकर विज्ञप्ति जारी की गई है। इसके साथ ही 9 अप्रैल को ही काउंसलिंग की गई। दोनों ही तिथियां जारी होने के पहले 3 नवंबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट द्वारा डीम्ड विश्वविद्यालय से जुड़ी डिग्रियों को अमान्य घोषित कर दिया गया। वहीं सोमवार को जारी सूची में 9 ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिन्होंने जनार्दन राय नागर विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है, लेकिन सवाल यही है कि जब 6 माह पहले ही जो डिग्री अमान्य कर दी गई थी, उस डिग्री वाले अभ्यर्थी का चयन कैसे कर लिया गया।

ऐसे होता है चयन

ग्रामीण विकास और पंचायतीराज के अधीन इस चयन प्रक्रिया में प्रमुख जिला परिषद की सीईओ और एसीईओ होते हैं। उन्हीं के नेतृत्व में कमेटी का गठन होता है और वही कमेटी चयन प्रक्रिया पूरी कर सूची जारी करती है।

इस मामले को दिखवाया जाएगा। जो भी होगा, वह सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के अनुसार कानून के मुताबिक ही चयन होगा। सूचियां जारी कर दी है, लेकिन हम उसको नए सिरे से दिखवा लेंगे।

– राधेश्याम मीणा, एसीईओ, जिला परिषद

खेल छात्रावासों में प्रवेश के लिए आवेदन आठ तक

डूंगरपुर। जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के जनजाति उपयोजना क्षेत्र में संचालित खेल छात्रावासों में नए सत्र में कक्षा छह से 12 तक के जनजाति खिलाड़ियों के प्रवेश के लिए आवेदन मांगे गए हैं। आवेदक संबंधित खेल छात्रावास से आवेदन पत्र निशुल्क प्राप्त कर 8 जून तक जमा कर सकते हैं।