पूर्व राजघराने की बहू छह साल से पढ़ा रहीं है

माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की मुख्य परीक्षाएं 2 मार्च 2017 से
माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान की मुख्य परीक्षाएं 2 मार्च 2017 से

बालिका स्कूल में अंग्रेजी विषय की शिक्षक नहीं थीं, रिजल्ट भी सुधरा

देवगढ़। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की जिद देखिये पूर्व राजघराने की बहू (The-daughter-in-law) नम्रता कुमारी छह साल से नगर के बालिका स्कूल की 11वीं व 12वीं की छात्राओं को अंग्रेजी विषय पढ़ा रही हैं।

रावत नाहर सिंह राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक स्कूल में जनवरी 2001 से अंग्रेजी व्याख्याता का रिक्त था। यहां अंग्रेजी विषय के अध्यापक का पद खाली होने से बालिकाओं को अन्यत्र पढ़ने या पढ़ाई छोड़ने की नौबत आ गई थीं। इस पर नम्रता कुमारी ने ससुर रावत नाहर सिंह व सास भूर|ा प्रभा कुमारी से स्कूल में निशुल्क पढ़ाने की इच्छा जताई। परिवार के लोगों ने भी बहू में समाज सेवा की भावना को देखते हुए उन्हें पढ़ाने की इजाजत दे दी। नम्रता कुमारी ने जनवरी 2011 से नियमित स्कूल जाकर चार घंटे तक बालिकाओं को अंग्रेजी पढ़ाना शुरू किया। स्कूल में 11वीं व 12वीं में पढ़ने वाली 233 छात्राओं को पढ़ाना शुरू किया। उनके पढ़ाने से बोर्ड परीक्षा परिणाम में सुधार होने लगा। 2009-2010 में अंग्रेजी विषय का परिणाम 87 प्रतिशत, 2011-12 में शत-प्रतिशत रहा। 2017 में अंग्रेजी का विषय अध्यापक आने के बाद भी नम्रता कुमारी ने स्कूल में पढ़ाना सुचारू रखा। 2017-18 में 12वीं कक्षा की छात्राओं को अंग्रेजी में पढ़ाई करवाई। यहां की बालिकाएं फर्राटेदार अंग्रेजी बोलना सीख चुकी हैं।