तीन साल में 35 शिविर लगा 3257 छात्राओं को सिखाए आत्मरक्षा के गुर

training of fighting for girls security

राजसमंद। बढ़ते महिला अत्याचार से निपटने के लिए चार महिला पुलिस कमांडो सुनीता चौधरी, प्रियंका वर्मा, पुष्पा मेघवाल व सरोज जटिया प्राइवेट और सरकारी स्कूल में शिविर लगाकर छात्राओं को कराटे का प्रशिक्षण दे रही हैं। तीन साल (Three years) में ये 35 शिविर लगाकर 3 हजार 257 छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सीखा चुकी हैं। वर्ष 2017 में 18 शिविर लगाकर 1488 छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए। अपराध पर अंकुश लगाने के लिए विभिन्न प्रकार की गतिविधियों को संचालन कर महिला अपराध में कमी लाने का प्रयास किए जा रहे हैं। ये छात्राएं स्वयं की ही नहीं बल्कि अपने साथी छात्राओं की सुरक्षा करने के लिए भी सक्षम हैं। चारों महिला पुलिस कमांडों ने अब तक दो वर्ष में 18 शिविर लगाकर 1488 छात्राओं को प्रशिक्षण देकर आत्मरक्षा के लिए तैयार किया हैं।

एएसपी मनीष त्रिपाठी ने बताया कि जिले में अपराध कम करने के लिए पुलिस लगातार कई प्रकार के प्रयास कर अपराधों में कमी लाने का प्रयास कर रही हैं। गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष 30 फीसदी अपराधों में कमी लाई हैं। महिला अत्याचार में कमी लाने के लिए 4 महिला पुलिस कमांडो को 2014 में जयपुर से प्रशिक्षण दिलाकर जिले में तीन वर्षों में 35 से अधिक शिविर लगाकर 3 हजार 257 छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए हैं।